class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बातचीत के लिए उल्फा नेता आगे आयें: गोगोई

बातचीत के लिए उल्फा नेता आगे आयें: गोगोई

असम के मुख्यमंत्री तरूण गोगोई ने उल्फा के सभी शीर्ष नेताओं से बातचीत करने कि लिए आगे आने की अपील करते हुए कहा है कि प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन की ओर से शांति वार्ता के लिए सरकार को सकारात्मक संकेत मिले हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि अगर संगठन के नेता बातचीत के लिए आगे आते हैं तो उनकी सरकार उनके लिए सुरक्षा मुहैया करायेगी। गोगोई ने बताया कि राज्य में हिंसा को अवश्य समाप्त किया जाना चाहिए। हमने उन सबके लिए अपने दरवाजे खुले रखे हैं। परेश बरूआ समेत उल्फा के शीर्ष नेताओं को लोगों की शांति की आकांक्षाओं का सम्मान करना चाहिए।

उल्फा प्रमुख अरविंद राजखोवा की सरकार के साथ बातचीत टेबल पर आने की इच्छा जताने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उल्फा की ओर से मिलने वाले संकेत उत्साहजनक हैं। मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी नॉर्थ ईस्ट टीवी चैनल की उस खबर के बाद आई है जिसमें चैनल ने राजखोवा के हवाले से कहा था कि प्रतिबंधित संगठन सरकार के साथ बातचीत को तैयार है।

यह पूछे जाने कि अगर बातचीत के लिए उल्फा नेता आगे आयेंगे तो क्या असम सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया करायेगी उन्होंने कहा कि मैं इसके लिए तैयार हूं।

उल्फा के कमांडर इन चीफ तथा संगठन की सैन्य शाखा की कमान संभालने वाले परेश बरूआ के बातचीत में शामिल होने के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बरूआ के बिना भी बातचीत हो सकती है लेकिन अगर वह शामिल होता है तो सरकार को प्रसन्नता होगी।

उन्होंने कहा कि अगर वह खुद से आता है तो हमें प्रसन्नता होगी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अगले एक हफ्ते में कुछ अच्छी खबरें हो सकती है। राजखोवा के बारे में पूछे जाने पर गोगोई ने कोई जानकारी देने से इंकार कर दिया और केवल इतना ही कहा कि गृह मंत्री पी चिदंबरम उनसे उल्फा प्रमुख के बारे में बातचीत कर चुके हैं।

गोगोई ने कहा कि सरकार उल्फा नेतृत्व के साथ स्वायत्तता और कुछ वित्तीय शक्ति देने के मुद्दे पर बातचीत करने को तैयार है। उन्होंने कहा कि परेश बरूआ समेत सभी उल्फा नेता अगर वास्तविकता को समझेंगे तो हमें प्रसन्ना होगी। हम स्वायत्तता और कुछ वित्तीय शक्तियों के बारे में बातचीत कर सकते हैं।

बातचीत का विरोध करने के लिए प्रसिद्ध परेश बरूआ के बारे में खबर है कि वह बांग्लादेश भाग गया है और कहा जा रहा है कि वह एक पड़ोसी देश में है। अन्य उग्रवादी संगठनों से भी हिंसा छोड़ने की अपील करते हुए गोगोई ने कहा कि असम सरकार राज्य में शांति लाने की पूरी कोशिश कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बातचीत के लिए उल्फा नेता आगे आयें: गोगोई