अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उ.प्र. में खिलाडियों और प्रशिक्षकों को मिलेगी आर्थिक मदद

राष्ट्रीय तथा अन्तरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में दो बार भाग ले चुके उत्तरप्रदेश के खिलाडियों को आर्थिक रुप से तंगहाली की परिस्थितियों में पांच लाख रुपए तक की एकमुश्त आर्थिक सहायता दी जाएगी। यह सहायता राशि खिलाडियों को दवा,इलाज, प्रतियोगिता के प्रशिक्षण तथा प्रतियोगिता में भाग लेते समय चोटिल होने पर इलाज के लिए प्राप्त होगी। जरुरतमंद उदीयमान खिलाडियों को नकद या सामान के रुप में तथा खेल प्रोत्साहन के लिए कोच रेफरी एवं अम्पायरों को भी 50 हजार रुपए की सहायता राशि देने की व्यवस्था की गई है।

राष्ट्रीय खिलाड़ी कल्याण निधि के लागू होने से खिलाडी आर्थिक तौर पर अब निश्चिन्त होकर उत्तर प्रदेश एवं देश के लिए खेल क्षेत्र में गौरव हासिल करने के लिए और उम्दा प्रदर्शन कर सकेंगे।

युवा कल्याण एवं खेलकूद सचिव डा. ललित वर्मा ने बताया कि सहायता राशि प्राप्त करने के लिए आवेदन पत्र का प्रारुप जिला खेल कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है। उसे चार प्रतियों में भरकर सदस्य सचिव राष्ट्रीय खिलाडी कल्याण निधि के पास जमा करना होगा। सभी क्षेत्रीय क्रीडा अधिकारी, जिला क्रीडा अधिकारी इस योजना का प्रचार-प्रसार सुनिश्चित कराऐं ताकि योग्य राष्ट्रीय खिलाडी या उनका परिवार उदीयमान, जरुरतमंद खिलाडी तथा प्रशिक्षक इस योजना से लाभान्वित हो सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उ.प्र. में खिलाडियों और प्रशिक्षकों को मिलेगी आर्थिक मदद