class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीम इंडिया का दूसरा प्रायोजक नहीं, सहारा से अनुबंध बढ़ा

टीम इंडिया का दूसरा प्रायोजक नहीं, सहारा से अनुबंध बढ़ा

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टीम इंडिया को कोई अन्य प्रयोजक नहीं मिलने के कारण मौजूदा प्रायोजक सहारा के साथ अगले छह महीने के लिए अनुबंध बढ़ा दिया है।

बीसीसीआई के अध्यक्ष शशांक मनोहर और सचिन एन श्रीनिवासन की अध्यक्षता में हुई मार्केटिंग कमेटी की बैठक में सहारा के साथ समान नियम एवं शर्तों के साथ अनुबंध बढाने का फैसला किया।

गौरतलब है कि सहारा ने वर्ष 2006 में चार वर्ष के लिए 313.80 करोड़ रुपए में टीम इंडिया के प्रायोजन के अधिकार हासिल किए थे और उसकी सीमा 31 दिसंबर को समाप्त हो रही थी। इस दौरान बीसीसीआई को टीम के लिए कोई और प्रायोजक नहीं मिला ऐसे में उसे मन मसोसकर सहारा के साथ अपना अनुबंध बढ़ाना पड़ा।

श्रीनिवासन ने कहा कि बोर्ड सहारा के साथ अनुबंध समाप्त होने के पहले टीम इंडिया के प्रायोजन के लिए बोली आमंत्रित करेगी। उन्होंने कहा कि इस बारे में एक नया टेंडर जारी किया जाएगा और सहारा के साथ नए अनुबंध की सीमा खत्म होने के पहले निविदाएं मंगाई जाएंगी।

उन्होंने कहा कि भारत और श्रीलंका के खिलाफ दो 20-20 मैचों के लिए मैदान और टाइटल अधिकार वर्ल्ड स्पोटर्स ग्रुप को 3.15 करोड़ रुपए प्रति मैच दिए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टीम इंडिया का दूसरा प्रायोजक नहीं, सहारा से अनुबंध बढ़ा