class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक (03 दिसंबर, 2009)

राजधानी के एक सरकारी सह शिक्षा स्कूल में हुड़दंगियों का उत्पात झकझोरने वाली घटना है। इससे पहले भी दिल्ली-एनसीआर के स्कूलों में बच्चों के साथ बड़े हादसे होते रहे हैं।

खजूरी खास में सहपाठियों की कथित छेड़छाड़ के बाद भगदड़ में पांच छात्राओं की जान जाने की बात हो या छात्र के स्कूल बैग से पिस्तौल की बरामदगी, हमारे बच्चों स्कूलों में कितने सुरक्षित हैं और सभ्यता के यह कौन से सबक सीख रहे हैं? बुधवार की घटना से खफा अभिभावकों ने शिक्षकों पर भी चौंकाने वाले आरोप लगाए हैं। स्कूलों को उत्पातियों से बचाने को पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम जरूरी हैं इसमें दो राय नहीं लेकिन, तमीज का ककहरा अगर शिक्षक ही भूल गए तो विद्यार्थियों से क्या उम्मीद की जा सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक (03 दिसंबर, 2009)