DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुक्त कराये गये बाल श्रमिकों को मिलेगा हेल्थ कार्ड

राज्य सरकार बाल श्रमिकों को हेल्थ कार्ड देगी। मुक्त कराये जाने के बाद  उन्हें मनो चिकित्सकों और तनाव परामर्शदाताओं की देखरेख में रखा जाएगा। साथ ही बाल श्रम परियोजना के अंतर्गत चलाये जा रहे स्कूलों में नियमित रूप से बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण की व्यवस्था की जाएगी। हेल्थ कार्ड की व्यवस्था उनके माता-पिता के लिए भी होगी। इस कार्ड के आधार पर वे अपने निकट के स्वास्थ्य केन्द्रों पर नियमित स्वास्थ्य जांच करा सकेंगे। दूसरे भाई बहनों के लिए कार्ड की व्यवस्था तो नहीं हेगी लेकिन वे भी उसी कार्ड के आधार पर स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ ले सकेंगे।


सरकार द्वारा बाल श्रम उन्मूलन के लिए बनाई गई कार्ययोजना में यह जिम्मेवारी स्वास्थ्य विभाग को दी गई है। कार्यक्रम की देखरेख के लिए एक प्रभावी तंत्र स्थापित किया जाएगा। जिम्मेदार अधिकारियों की क्षमता विकास के लिए भी व्यवस्था की जाएगी। पूरी योजना में श्रम संसधान विभाग सहयोगी की भूमिका में रहेगा। सरकार का मानना है कि खतरनाक कारखानों में कार्यरत बच्चों स्वास्थ्य संबंधी गंभीर खतरों के शिकार हो जाते हैं। चूंकि अधिसंख्य ऐसे बच्चाे असंगठित क्षेत्रों में काम करते हैं इसलिए उनके स्वास्थ्य की स्थिति का समुचित ख्याल नहीं रखा जाता। लिहाजा स्वास्थ्य विभाग अपने विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से मुक्त कराये गये बाल श्रमिकों की इन समस्याओं का निराकरण करेगा। उन्हें निशुल्क चिकित्सा और मुफ्त दवायें उपलब्ध करायेगा। सरकार ने यह व्यवस्था भी की है कि अन्य राज्यों से मुक्त कराकर लाये गये प्रवासी बाल मजदूरों के स्वास्थ्य की जांच निश्चित रूप से की जाए। उनमें पाई जाने वाली बीमारियों को उनके हेल्थ कार्ड में अंकित किया जाए। इस आधार पर वे बच्चाे अपने घर जाने पर भी उस कार्ड के आधार पर बीमारी का इलाज करते रहेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुक्त कराये गये बाल श्रमिकों को मिलेगा हेल्थ कार्ड