DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईजीआईएमएस में मेडिकल और नर्सिग कॉलेज खुलेगा

 इन्दिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) में मेडिकल कॉलेज और नर्सिग कॉलेज खुलने का रास्ता साफ हो गया है। स्थापना के 25 वर्षो बाद पहली बार आईजीआईएमएस एक परिसर में सिमटा है। अब यहां 20 एकड़ क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज और 5 एकड़ क्षेत्र में नर्सिग कॉलेज खोलने में आने वाली बाधाएं दूर हो गईं है। यहीं नहीं एजी कालोनी की तरफ से सड़क मार्ग बन्द होने से अब संस्थान के बीच से बाहरी लोगों के गुजरने पर पूरी तरह रोक लग गई है। आये दिन होने वाले राहगिरी से भी संस्थान कर्मियों को मुक्ति मिलने की संभावना है। संस्थान प्रशासन ने धर्मशाला की तरफ से आने वाले सड़क पर भी गेट लगाने का काम जारी कर दिया है।
फिलहाल आईजीआईएमएस में यूरोलॉजी फैकल्टी में एमसीएच कोर्स में नामांकन की अनुमति मिली है।  रेडियोथेरेपी व ऑन्कोलॉजी, रेडियोलॉजी, आफ्थेलमालोजी (आंख विभाग), बायोकेमेस्ट्री और माइक्रोबायोलाजी विषय में डीएनबी कोर्स में एक-एक सीट पर नामांकन होता है। 


गेस्ट्रोलॉजी में डीएम कोर्स की पढ़ाई शुरू करने की कार्रवाई चल रही है। फैकल्टी (वरीय शिक्षक) होने पर पेडियाट्रिक सर्जरी और न्यूरो सर्जरी में भी एमसीएच कोर्स की पढ़ाई हो सकती है। आफ्थेलमालोजी,  बायोकेमेस्ट्री, माइक्रोबायोलाजी, रेडियोथेरेपी व ऑन्कोलॉजी, रेडियोलॉजी और पीएसएम विभाग में भी एमडी और एमएस की पढ़ाई शुरू होने की संभावना है। आईजीआईएमस के निदेशक डा. अरुण कुमार ने कहा कि जमीन संबंधी बाधाएं समाप्त होने के बाद अब सिर्फ फैकल्टी संबंधी बाधाएं हैं। सरकार से फैकल्टी बहाल करने की सहमति मिलते ही मेडिकल कॉलेज के साथ ही कई विषयों में सुपर स्पेश्यिलिटी की पढ़ाई शुरू करने की अंतिम बाधा खत्म हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईजीआईएमएस में मेडिकल और नर्सिग कॉलेज खुलेगा