class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुस्साए ग्रामीणों ने लगाया जाम

नगर में यातायात सुधार के लिए पूर्व में बनाए गए नियमों से परेशान लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया है। कौड़िया से वाया बालासौड-देवीरोड होते हुए मोटर नगर तक भारी वाहनों के आगमन के खिलाफ बालासौंड के लोगों ने बुधवार को मोटर मार्ग जाम कर अपना विरोध जताया।

बुधवार की सुबह बालासौड़ क्षेत्र के लोग एकत्र होकर कौड़िया-देवीरोड सड़क पर आए और उन्होंने वहां जाम लगा दिया। ग्रामीणों का कहना था कि मात्र गांव के ही प्रयोग में लाए जाने वाले उक्त  मार्ग पर अब भारी वाहनों की कतारें लगी रहती हैं। सड़क भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गयी है। जाम लगने की सूचना मिलने पर पुलिस बल मौके पर पहुंचा और ग्रामीणों से जाम हटाने की गुजारिश की।

बाद में ग्रामीणों की तरफ से प्रशासन को ज्ञापन भी दिया गया। ज्ञापन में कहा गया है कि पूर्व में जिले के तत्कालीन जिलाधिकारी द्वारा यूपी से आने वाले समस्त वाहनों को देवीरोड से मोटर नगर आने का आदेश दिया गया, जिस कारण गांव की यह सड़क अघोषित हाईवे में बदल गयी। इस सड़क पर हमेशा ही जाम लगा रहता है। लगातार भारी वाहनों की आवाजाही से सड़क पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुकी है।

साथ ही कौड़िया माइनर नहर भी क्षतिग्रस्त हो चुकी है। मांग ने मानने पर ग्रामीण आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। जाम लगाने वालों में जगमोहन सिंह रावत, आशा डबराल, वीरेंद्र थलेड़ी, गजेंद्र मोहन धस्माना, राकेश कुकसाल, हरीश घिल्डियाल, जगत सिंह रावत, संजय थलेड़ी, कुलानंद बौंठियाल, विजय ध्यानी, स्वयंबर भट्ट समेत काफी संख्या में ग्रामीण शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुस्साए ग्रामीणों ने लगाया जाम