class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पानी को लेकर जाम लगाया

कई दिनों से पेयजल की किल्लत से जूझ रहे तल्लानागपुर क्षेत्र के दजर्नों गांवों के ग्रामीणों ने मुख्यालय में प्रदर्शन कर विभाग के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने आधा घंटे तक रुद्रप्रयाग-गौरीकुण्ड राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किया। ग्रामीण बाद में जल निगम कार्यालय पहुंचे जहां अधिशासी अभियंता का घेराव किया। 

पिछले कई दिनों से गंभीर पेयजल संकट से जूझ रहे तल्लानागपुर क्षेत्र के दजर्नों गांव के ग्रामीणों को गुस्सा बुधवार को सड़कों पर फूट पड़ा। मुख्यालय के बेलणी कस्बे में एकत्रित ग्रामीणों ने सुबह ग्यारह बजे पुल के समीप राजमार्ग जाम किया। ग्रामीण नारेबाजी करते हुए जल निगम के कार्यालय पहुंचे और अधिशासी अभियंता का घेराव किया।

ग्रामीणों का कहना था कि ग्राम पंचायत बोरा, सतेराखाल, दुर्गाधार, मयकोटी, चामक, थलासू, चोपता, फलासी सहित कई गांवों में पानी का संकट बना है। उन्होंने कहा कि स्नोतों में पर्याप्त पानी के बाद भी विभाग के कर्मचारी व अधिकारियों की लापरवाही से जनता को पानी के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रहीं हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि टेंकरों से पानी सप्लाई में भी मिलीभगत से गांवों में पानी नहीं मिल पा रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि पाइप लाइनें टूटी हैं किंतु विभाग को कई बार कहने पर भी समस्या का समाधान नहीं हुआ है।

जल निगम के कार्यालय में ग्रामीणों की अधिशासी अभियंता के साथ काफी बहस हुई। इस मौके पर जल निगम के अधिशासी अभियंता शोभाराम ने ग्रामीणों को उनके साथ मौके पर चलकर पेयजल समस्या का समाधान करने का भरोसा दिया तब जाकर ग्रामीण शांत हुए।

इस अवसर पर जिपंस विद्योतमा गुंसाई, अवतार सिंह राणा, क्षेत्र पंचायत सदस्य महावीर सिंह गुंसाई, प्रधान बोरा, आनंद सिंह गुंसाई, सच्चिदानंद सेमवाल, शिवदेई गुंसाई, रणवीर कठैत, यशवंत नेगी, गजपाल सिंह, सतेन्द्र बत्र्वाल आदि ग्रामीण थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पानी को लेकर जाम लगाया