DA Image
30 मई, 2020|9:18|IST

अगली स्टोरी

लोजपा निकालेगी दलित एकता मार्च

 लोक जनशक्ति पार्टी दलितों के सवाल पर नीतीश सरकार को घेरेगी। लोजपा और दलित सेना के कार्यकर्ता 17 दिसम्बर को राजधानी के गांधी मैदान से विधानसभा तक दलित एकता मार्च निकालेंगे। लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान मार्च की कमान संभालेंगे। आंदोलन की तैयारियों के लिए सभी विधायकों और विधान पार्षदों को अलग-अलग जिलों की कमान सौंपी गयी है।


    पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने कहा कि नीतीश सरकार महादलित अभियान के बहाने दलितों को आपस में लड़ा रही है। यही वजह है कि राज्य सरकार के चार साल पूरे होने पर जारी की गयी रिपोर्ट कार्ड में महादलित कल्याण के नाम पर सिर्फ लफ्फाजी की गयी है। 


  लोजपा के मीडिया प्रभारी ललन कुमार चन्द्रवंशी ने बताया कि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सूरजभान को नवादा, लखीसराय और शेखपुरा, विधायक दल के नेता महेश्वर सिंह को मोतिहारी, विधायक रामाकिशोर सिंह को आरा, विधायक नगीना देवी को सीतामढ़ी और शिवहर, डॉ.अच्युतानन्द को मुजफ्फरपुर, डॉ. इजहार अहमद को दरभंगा, विजय कुमार सिंह उर्फ डब्ल्यू सिंह को औरंगाबाद, अनिल चौधरी को मुंगेर और बेगूसराय, कुमार सर्वजीत को गया, रोहतास और कैमूर, विजय मंडल को अररिया, किशनगंज और पूर्णिया, विश्वनाथ पासवान को समस्तीपुर, इसराइल राइन को सहरसा, सपौल और मधेपुरा, राजेन्द्र राय को वैशाली और राजू यादव को नालन्दा का प्रभारी बनाया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:लोजपा निकालेगी दलित एकता मार्च