अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई स्कीम के प्लाटों का बुरा हाल

यमुना अथॉरिटी के प्लाटों की खरीद-फरोख्त पर चल रहा प्रीमियम पिछले दो दिनों में आधे से भी कम रह गया है। लोग इसे प्रापर्टी डीलरों की साजिश और फाइनेंसरों से उनकी सांठ-गांठ बता रहे हैं। अचानक हुए इस बदलाव के चलते प्लाट बेचने की सोच रहे आवंटियों ने भी अब प्लाट होल्ड कर लिए हैं।

विदित हो कि यमुना अथॉरिटी के 300 व 500 वर्ग मीटर के करीब 19 हजार प्लाटों का ड्रा 17 नवम्बर को निकाला गया। स्कीम में 1 हजार, 2 हजार व 4 हजार के प्लाटों का ड्रा मैनुअल तरीके से डेढ़ माह पहले ही निकाला जा चुका है।

खास बात यह है कि मौके पर बगैर किसी तरह के डबलपमेंट के बावजूद यमुना अथॉरिटी के प्लाटों पर डीलर आवंटियों को 1,200 रुपए से लेकर 1,500 रुपए तक के प्रीमियम का ऑफर दे रहे थे। कुछ आवंटियों ने लगे हाथ अपने प्लाट बेच भी दिए हैं लेकिन, अधिकांश आवंटी अभी प्रापर्टी बाजार के रुख पर नजर गड़ाए हुए हैं और बाजार में आ रहे उछाल दबाव को देख रहे हैं।

यमुना के अधिकांश आवंटी प्लाट बेचने के इच्छुक नहीं हैं। क्योंकि, इन लोगों को ये प्लाट मात्र 4,750 रुपए की दर पर आवंटित किए गए हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में इतनी सस्ती दरें किसी अथॉरिटी की नहीं हैं। लिहाजा आवंटी खुश हैं। पर मौके पर डबलपमेंट की स्थिति को देखते हुए घबरा भी रहे हैं।

अथॉरिटी अफसर खुद इस बात को स्वीकार कर रहे हैं कि अगले तीन वर्षों तक वे आवंटियों को कब्जा देने की स्थिति में हो पाएंगे। बहरहाल खास बात यह है कि पिछले दो दिनों से प्रापर्टी डीलर यमुना अथॉरिटी के प्लाटों पर मात्र 500 से 700 रुपए प्रीमियम की बात कर रहे हैं।

भूमिका बिल्डकान के ऐलकार सिंह और वास्तविक प्रापर्टी के मालिक सुभाष भाटी के मुताबिक, जैसे-जैसे भुगतान का समय नजदीक आता जाएगा, प्रीमियम और कम होगा। हालांकि ये लोग प्रीमियम कम होने की एक वजह अथॉरिटी की प्लाट ट्रास्फर पॉलिसी को भी बता रहे हैं। एक सप्ताह पहले ट्रांस्फर खोले जाने की चर्चाओं का बाजार गर्म था लेकिन, पॉलिसी में चेयरमैन ललित श्रीवास्तव की टिप्पणी के बाद अब यह मुश्किल दिखाई पड़ रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, चेयरमैन ने राजस्व की हानि रोकने की मंशा के चलते फाइल पर पुनर्विचार के लिए लिख दिया है। उधर कुछ लोग प्रीमियम कम होने को प्रापर्टी डीलर व फाइनेंसरों की मिलीभगत भी करार दे रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नई स्कीम के प्लाटों का बुरा हाल