class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईपीएफओ के दीर्घकालिक सरकारी बांडों में निवेश को इजाजत

ईपीएफओ के दीर्घकालिक सरकारी बांडों में निवेश को इजाजत

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) को जल्द ही दीर्घकालीन सरकारी बांडों में निवेश की अनुमति दी जाएगी। इसके साथ संगठन बाजार में 10 वर्ष या इससे अधिक की परिपक्वता अवधि वाले सरकारी बांड में निवेश कर सकेगा।

वर्तमान निवेश दिशानिर्देशों के तहत ईपीएफओ बाजार में रिजर्व बैंक द्वारा जारी बांडों के अलावा केवल अल्पकालिक सरकारी बांडों में ही निवेश कर सकता है। हालांकि संगठन प्राथमिक बाजार में अल्पकालीन एवं दीर्घकालीन दोनों तरह बांडों में निवेश जारी रख सकता है। इस निर्णय से मुद्रा बाजार को बढ़ने में मदद मिलने की संभावना है क्योंकि इससे दीर्घकालीन सरकारी बांडों के लिए मांग बढ़ेगी।
   
ईपीएफओ को खुले बाजार से दीर्घकालीन सरकारी बांडों खरीदने की अनुमति देने का निर्णय संगठन के सलाहकार निकाय वित्त एवं निवेश समिति द्वारा किया गया और अब इस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए 5 दिसंबर को होने वाली बैठक में केन्द्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) के समक्ष पेश किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ईपीएफओ के दीर्घकालिक सरकारी बांडों में निवेश को इजाजत