DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विभागीय-लापरवाही के चलते सड़क निर्माण अधर में

विभागीय लापरवाही से प्रधानमंत्री सड़क योजना जिले में दम तोड़ रही है। इससे एनटीपीसी को जाने वाली जारचा-एनटीपीसी वाया खगोड़ा व दादरी-एनटीपीसी वाया बिसहाड़ा तथा प्यावली दोनों सड़कों का खस्ता हाल है। दोनों सड़कों का काम महीनों से रुका पड़ा है।

जिला विकास अधिकारी मदन वर्मा सड़कों के खस्ता हाल के लिए समय से ठेकेदार का नहीं मिलना बताते हैं। उनका कहना है कि ठेकेदार के समय से नहीं मिलने से जो टेंडर फरवरी में छोड़े जाने थे, वह मई में फाइनल हुआ। इस कारण निर्माण कार्य देर से शुरु हुआ। सड़क निर्माण के लिए भरे गए बांड के मुताबिक हर हाल फरवरी 2010 तक एनटीपीसी को जाने वाली दोनों सड़कों का काम पूरा कर लेना है।

विकास विभाग के अनुसार, प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत जिले में फरवरी 2010 तक 45 कि.मी. तक सड़क का निर्माण होना है। इनमें से अभी तक 36 कि.मी. का ही काम पूरा हो पाया है। मेट्रो रेल ट्रैक की तरह प्रधानमंत्री सड़क योजना का काम भी काफी महंगा है। एक कि.मी. के निर्माण पर 20 लाख का खर्च आता है। इस तरह 45 कि.मी. के निर्माण पर 9 करोड़ का बजट है। हाई क्वालिटी के लिए जी-1, जी-2 एवं जी-3 मानकों को ध्यान में रखा जाता है।

निर्माण कार्य देख रहे अधिशारी अभियंता महेन्द्र सिंह के अनुसार, 8.150 कि.मी. लंबे जारचा-एनटीपीसी रोड का काम अभी 7 कि.मी. तक ही पूरा हुआ है। इनमें से जी-2 व जी-3 मानक का 6.5 कि.मी. पूरा हुआ है। जबकि लेपन का काम 5.7 कि.मी. हुआ है। काम का ठेका मेसर्स सुनील गर्ग कांट्रेक्टर को दिया गया है।

इसी तरह 6.425 कि.मी. लंबे दादरी-एनटीपीसी रोड का अभी 60 फीसदी काम पूरा हुआ है। रोड के लिए 5 कि.मी. मिट्टी का काम पूरा कर लिया गया है। इनमें से 5 कि.मी. तक जी-2, जी-3 व लेपन का काम चल रहा है। दोनों मुख्य मार्गों पर बिटुमिनस रोड बनना है। बांड के अनुसार, 28 फरवरी, 2010 तक काम पूरा कर लेना है। लेकिन पीडब्लूडी द्वारा ठेकेदारों को छूट दिए जाने से काम के पूरा होने में और भी देर हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विभागीय-लापरवाही के चलते सड़क निर्माण अधर में