अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों की मौत दिल्ली सरकार और एमसीडी कटघरे में

दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार और एमसीडी से उन दो बच्चों की मौत पर स्पष्टीकरण मांगा है जो सात फुट गहरे उस गढ्ढे में डूबकर काल के गाल में समा गए जिसे कथित रूप से एमसीडी के कर्मचारियों ने खोदा था।
     
इस घटना पर स्वत:संज्ञान लेते हुए मुख्य न्यायाधीश एपी शाह और न्यायमूर्ति एस मुरलीधर की एक खंडपीठ ने दिल्ली सरकार, डीडीए, एमसीडी और शकूरपुर इलाके के पार्षद को नोटिस जारी किए हैं जहां यह हादसा हुआ था।

अदालत ने इन सभी से अपने जबाव नौ दिसम्बर तक दाखिल करने के लिए कहा है। मामले पर अगली सुनवाई नौ दिसम्बर को होगी। उल्लेखनीय है कि चार वर्षीय अरिशित और आठ वर्षीय अरमान के शव मंगलवार को इस गढ्ढे में तैरते पाए गए थे। इस गढ्ढे में पांच फुट तक पानी भरा था। अरमान के पिता मोहम्मद इस्माइल का कहना है कि हमारे बच्चों को पहले मारा गया और बाद में गढ्ढे में डाला गया। पुलिस मामले को कम करके आंक रही है।
     
हादसे के बाद एमसीडी ने मामले की जांच का आदेश दिया था। इससे पहले बीते सितम्बर में दक्षिण दिल्ली स्थित मालवीय नगर में आठ फुट गहरे गढ्ढे में गिरकर 77 वर्षीय एक बुजुर्ग अपनी जान गवां चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बच्चों की मौत दिल्ली सरकार और एमसीडी कटघरे में