DA Image
27 मई, 2020|9:48|IST

अगली स्टोरी

डी बियर्स की एक अरब डालर का राइट इश्यू

दुनिया की सबसे बड़ी हीरा उत्पादक कंपनी डी बियर्स समूह के शेयरधारकों ने राइट इश्यू के जरिये एक अरब डालर की राशि जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इस राशि का इस्तेमाल डी बियर्स द्वारा अपने ऋण को कम करने के लिए किया जाएगा।
   
दुनिया की अन्य हीरा उत्पादक कंपनियों की तरह डी बियर्स पर भी वैश्विक वित्तीय संकट का असर पड़ा है। लोगों द्वारा लग्जरी सामानों पर खर्च घटाने की वजह से हीरों की मांग घटी है। वैश्विक हीरा कारोबार में डी बियर्स की हिस्सेदारी लगभग 40 प्रतिशत की है।

 

 हीरों की मांग में आई कमी के कारण कंपनी ने दक्षिण अफ्रीका, बोस्तवाना तथा कनाडा की अपनी खदानों को अस्थायी रूप से बंद कर दिया था। इनमें से कुछ साइटों को दोबारा खोल दिया गया है, लेकिन अन्य में अभी उत्पादन ठप है। लंदन में डी बियर्स की प्रवक्ता लायनेट गूल्ड ने एक ईमेल बयान में कहा, डी बियर्स के आंतरिक रिण में कमी तथा इसके पूंजीगत ढांचे में सुधार से कंपनी इस निवेश से नए अवसरों का फायदा उठा पाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:डी बियर्स की एक अरब डालर का राइट इश्यू