class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस बार पी-3 पिलाई जाएगी

पोलियो में पी-3 वायरस के बढ़ते मामलों के कारण इस राउंड में बच्चों को पी-3 की दवा पिलाई जाएगी। इससे पहले राउंड में बच्चों को पी-1 की दवा दी गई थी। इस बात को लेकर काफी बहस भी हुई थी कि अगर मामले पी-3 के मिल रहे हैं, तो बच्चों को पी-1 की दवा क्यों पिलाई जा रही है?

अभी तक जिले में पोलियो के 63 मामले हैं, जिनमें से 61 मामले अकेले पी-3 के हैं। बाकी के दो मामले पी-1 के हैं। वह भी सिर्फ उन बच्चों को, जिनकी एम्यूनिटी काफी कम है। पिछले राउंड में करीब दस हाजर बच्चों को दवा पिलाई गई थी। उतने ही बच्चों को इस बार पी-3 की दवा पिलाई जाएगी।

रविवार को पहले बूथ लगा कर सभी बच्चों को दवा पिलाई जाएगी। उसके बाद सोमवार से डोर-टू-डोर अभियान में कार्यकर्ता घर-घर जाकर बच्चों को दवाएं पिलाएंगे, ताकि कोई बच्चा छूट न जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इस बार पी-3 पिलाई जाएगी