अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौ और दस दिसंबर को होगी लोकसभा में चर्चा

नौ और दस दिसंबर को होगी लोकसभा में चर्चा

बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले की जांच करने वाले लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट पर लोकसभा में नौ और दस दिसंबर को चर्चा होगी। लोकसभा की कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में यह फैसला किया गया।
   
पहले यह चर्चा सदन में एक दिसंबर को होनी थी, लेकिन इसका हिन्दी अनुवाद नहीं होने पर सपा नेता मुलायम सिंह की आपत्ति कि चलते इसे स्थगित करना पड़ा।
   
राज्यसभा में आयोग की रिपोर्ट पर 14 दिसंबर को चर्चा होगी। इस सदन में पहले यह चर्चा सात दिसंबर को होने जा रही थी। लोकसभा में भाजपा की उप-नेता सुषमा स्वराज ने बताया कि कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में यह भी तय किया गया कि तीन दिसंबर को जलवायु परिवर्तन पर चर्चा होगी और चार दिसंबर को श्रीलंका पर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लाया जाएगा। सात दिसंबर को माओवादी हिंसा पर चर्चा होगी। आठ दिसंबर सरकार के वित्तीय कार्यों के लिए रखा गया है और 11 दिसंबर को गैर सरकारी कामकाज होगा।

उन्होंने बताया कि इस सप्ताह विपक्ष की ओर से मांगी गई लगभग सभी चर्चाएं पूरी हो जाएंगी और भारत-चीन संबंधों पर एक अन्य चर्चा विपक्ष ने जो मांगी है, उसे अगले सप्ताह लिया जाएगा।

सुषमा ने बताया कि इस रिपोर्ट पर भाजपा की ओर से चर्चा की शुरूआत करने वाले नामों में कोई तब्दीली नहीं की गई है। लोकसभा में पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह जबकि राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरूण जेटली इसकी शुरूआत करेंगे।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि रणनीति के तहत लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और विनय कटियार जैसे बाबरी मस्जिद गिराए जाने के आरोपी भाजपा सांसद इस रिपोर्ट पर होने वाली चर्चा में हिस्सा नहीं लेंगे। सूत्रों ने कहा कि हालांकि अन्य दलों द्वारा चर्चा में इनका नाम घसीटे जाने पर वे अपने बचाव में व्यक्गित रूप से बहस में हस्तक्षेप कर सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नौ और दस दिसंबर को होगी लोकसभा में चर्चा