DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों से खौफजदा हैं झारखंड कांग्रेस के अध्यक्ष

माओवादी छापामारों का खौफ गंभीर रूप से नक्सल प्रभावित झारखंड के विधानसभा चुनाव के दौरान इस कदर छाया हुआ है कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष तथा घाटशिला विधानसभा क्षेत्र के पार्टी प्रत्याशी प्रदीप बालमुचू ने प्रचार के लिए चार पहिया वाहन का इस्तेमाल ही बंद कर दिया है।

बालमुचू ने कहा कि प्रचार के दौरान डर तो बना ही रहता है। हमें बहुत सोच समझ कर चलना पड़ता है। माओवादी छापामारों द्वारा पुलिस वाहनों तथा अन्य विरोधियों की गाडियों को उड़ाने के लिए बिछाई गई बारूदी सुरंगों के खतरे की ओर संकेत करते हुए उन्होंने कहा कि माओवाद प्रभावित अपने क्षेत्र में 12 दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए प्रचार की खातिर मैं केवल हल्के दो पहिया वाहनों का इस्तेमाल कर रहा हूं चार पहिया वाहनों का उपयोग नहीं किया जा रहा है।
 
उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा मुहैया कराई गई सुरक्षा व्यवस्था पर भरोसा नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि जिला पुलिस के जवान तो हमारे सभा स्थलों से कभी कभी दो किलोमीटर दूर ही खड़े रहते हैं। चूंकि हर कोई चाहता हैं कि हम उनके घर तक जाएं इसलिए जाना भी पड़ता है पर हमारे तो आगे कुआं और पीछे खाई है। बालमुचू ने कहा कि उन्हें अपने क्षेत्र के कुछ गांवों में नक्सलियों द्वारा लोगों पर मतदान का बहिष्कार करने के लिए दबाव बनाने की सूचना मिली है। उन्होंने हालांकि दावा किया कि इसके बावजूद लोग मतदान करने के इच्छुक हैं।

झारखंड के 24 में से 18 जिले आधिकारिक रूप से नक्सल प्रभावित घोषित हैं। लगभग नौ साल पहले गठित इस राज्य में अब तक नक्सली हिंसा में कई नेताओं और बड़े पैमाने पर सुरक्षाबलों समेत डेढ़ हजार से अधिक लोग मारे गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्सलियों से खौफजदा हैं झारखंड कांग्रेस के अध्यक्ष