DA Image
20 सितम्बर, 2020|9:42|IST

अगली स्टोरी

हादसे के बाद सुखोई विमानों की उड़ान पर रोक

हादसे के बाद सुखोई विमानों की उड़ान पर रोक

सुखोई लड़ाकू विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के दो दिन बाद बुधवार को वायुसेना ने अपने एसयू 30 श्रेणी के सभी 100 विमानों की उड़ान पर रोक लगाने का फैसला किया।

वायुसेना सूत्रों ने बताया कि राजस्थान के जैसलमेर में दो दिन पूर्व एक सुखोई विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के बाद वायुसेना ने अपने सभी सुखोई विमानों की उड़ान रोक दी है और प्रत्येक विमान की एहतियाती जांच कर रही है।

सुखोई विमान के साथ इस वर्ष हुए इस दूसरे हादसे में दोनों पायलट विंग कमांडर श्रीवास्तव और फ्लाइट लेफ्टिनेन्ट अरोड़ा को सुरक्षित बचा लिया गया। यह विमान अपनी नियमित प्रशिक्षण उड़ान पर था और पोखरण के दक्षिण पश्चिम में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

इससे पूर्व 30 अप्रैल को सुखोई विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था । जैसलमेर के निकट हुई इस दुर्घटना में विंग कमांडर पीएस नरह की मृत्यु हो गी थी, जबकि विंग कमांडर एसवी मुंजे घायल हो गए थे।

वायुसेना को पिछले 11 माह में 13 विमान दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ा है, जिसमें से इस वर्ष हुई दो सुखोई विमानों की दुर्घटना शामिल हैं। इससे वायुसेना के 12 साल के सुरक्षा रिकॉर्ड पर धब्बा लग गया। सुखोई विमान 1996 में वायुसेना में शामिल किए गए थे।

वायुसेना के पास अभी पास पांच सुखोई स्कवार्डन परिचालन में हैं। इसका अपने बेडे़ में 280 अत्याधुनिक सुखोई लड़ाकू विमान शामिल करने का लक्ष्य है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:हादसे के बाद सुखोई विमानों की उड़ान पर रोक