class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैज्ञानिक तरीके से कचरे का निष्पादन होगा

अब शहर के आस-पास के इलाकों के कचरे का निष्पादन भी वैज्ञानिक तरीके से होगा। बढ़ते शहरीकरण को देखते हुए अब गुड़गांव शहर के अलावा फरूखनगर, पटौदी तथा हेलीमण्डी नगर पालिका क्षेत्रों के कचरे को वैज्ञानिक तरीके से शोधित करने की योजना है। मंगलवार को उपायुक्त राजेन्द्र कटारिया की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में इस विषय पर विचार किया गया।

इस बैठक में उपायुक्त ने फरूखनगर, पटौदी तथा हेलीमण्डी के बीच ठोस कचरा प्रबन्धन संयंत्र लगाने के लिए उपयुक्त जगह तलाशने के निर्देश स बन्धित विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होंने नगराधीश से कहा कि वे इस दौरान गुड़गांव-फरीदाबाद के लिए गांव बंधवाड़ी में संयंत्र स्थापित करने वाली एजेंसी से संपर्क करके पता लगाएं कि वह एजेंसी इन तीनों नगरपालिका क्षेत्रों के कचरे का भी वैज्ञानिक तरीके से निष्पादन कर सकती है अथवा नहीं। नगराधीश द्वारा इन तीनों कस्बों के संयंत्र के लिए कंसलटेंअ नियुक्त करने की संभावनाओं का भी पता लगाया जाएगा।

उपायुक्त ने फरूखनगर, पटौदी तथा हेलीमण्डी नगरपालिका के सचिव से कहा कि वे ठोस कचरा प्रबन्धन संयंत्र लगाने के लिए सरकार के दिशा निर्देशों का अध्ययन करें। अगली बैठक में जिला प्रशासन को उन नियमों के बारे में बताएं, ताकि सभी नियमों का पालन करते हुए इन कस्बों के कचरे का प्रबन्धन ठीक ढंग से हो सके।  ठोस कचरा प्रबन्धन संयंत्र स्थापित होने से फरूखनगर, पटौदी तथा हेलीमण्डी नगरपालिका क्षेत्रों में घरों से निकलने वाले कचरे का निपटारा होगा और लोगों को स्वस्थ वातावरण मिलेगा।

इन कस्बों के लिए भी अति आधुनिक संयंत्र लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस बैठक में नगराधीश यशेन्द्र सिंह, पटौदी के उपमण्डल अधिकारी (ना0) वत्सल वशिष्ठ, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी दीपक कुमार, जिला राजस्व अधिकारी राम अवतार गुप्ता तथा खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वैज्ञानिक तरीके से कचरे का निष्पादन होगा