class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं खेले, अच्छा किया

मुंह में तेजी से पान घुमाते हुए मौलाना लादेन काफी खुश थे। बोले- ‘भाई मियां, खुदा जो करता है ठीक करता है। आपको याद होगा कि मैट्रिक पास करके जब आगे की फालतू पढ़ाई करने आप कॉलेज और युनीवर्सिटी गए थे तो बेहद उम्दा क्रिकेट खेलते थे। बाद में छोड़ दिया..अच्छा किया। वरना खुदानखास्ता कहीं सचिन के लेविल का खेलने लगते तो कोई बुजुर्ग खुन्नस में, आपकी छीछालेदर के बहाने अपनी छीछालेदर करा डालता। नहीं खेले, अच्छा किया।’
    
मुंह में रिटायर्ड पान के ऊपर ताजा पान जमाते हुए बोले- ‘बात समझा करो। बाल ठाकरे फनफना उठे कि सचिन ने यह काहे कह दिया कि मुंबई भारत का हिस्सा है और वह देश के लिए खेलता है। और क्या कह देता कि मुंबई ईरान का हिस्सा है? भई कमाल है। बुजुर्गवार बोले हैं कि सचिन ने गरीबी, महंगाई, झुग्गी झोंपड़ी के बारे में कभी कुछ सोचा है? अदब से पूछना चाहूंगा कि इतने बरसों में हुजूर ने कौन सा चपाती पर घी चुपड़ दिया? सचिन एक विश्व विख्यात बल्लेबाज है, पीएम, सीएम या किसी पार्टी का सरगना नहीं। कुछ अर्सा पहले राज ठाकरे के शोहदेपन से बिग बी का बचाव करते हुए आप ही ने कहा था कि अमिताभ बच्चन पूरे देश का है। क्या सचिन पूरे देश की शान नहीं है? मसल मशहूर है कि बुझते हुए चूल्हों से आंच नहीं ली जाती। दूसरे की पकती हुई हांडी में अपना चमचा चलाना ठीक नहीं।’

पान से एक सख्त सुपारी का टुकड़ा घूरे पर थूकते हुए लादेन बोले- ‘भाई मियां, मुझे तो यह डर है कि कल को बुजुर्गवार यह फतवा न जारी कर दें कि भारत क्रिकेट टीम में सिर्फ मराठी मानुस ही खेलेंगे। उत्तर भारत वालों को बाहर करो। लो साहब, धोनी, सहवाग, युवराज सिंह, भज्जी, नेहरा, गौतम गंभीर की भैंस गई पानी में। एक बार फिर वाडेकर, गावस्कर, वेंगसारकर, विनोद कांबली, रवि शास्त्री जैसे पुराने चावलों को पतीले में शामिल करना होगा। क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का पटिया ही गुल हो जाएगा।

शिवसेना प्रवक्ता ने कहा है कि ठाकरे साहब की सचिन को यह दोस्ताना सलाह है। अमां रहने दीजिए। बाज आए ऐसी मोहब्बत से, हटाओ पानदान अपना। लगता है मियां कि देश को कतरने की कैंची लोगों के पास है, जोड़ने का फेवीकोल खत्म हो चुका है। बहरहाल देश सचिन के साथ है। हवाइयां उड़ाने से कुछ हासिल नहीं होता। आप जनाब असर लखनवी का शेर सुनो- सीख ले फूलों से गाफिल मुद्दा-ए-जिन्दगी..खुद महकना ही नहीं, गुलशन को महकाना भी है। अच्छा मियां, अब चलूं। टीवी पर मैच शुरू होने को है। अच्छा हुआ आप नहीं खेले।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नहीं खेले, अच्छा किया