class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूषित पेयजल सप्लाई के खिलाफ प्रदर्शन

दूषित पेयजल सप्लाई से गुस्साए लाइन नंबर 16 के नागरिकों ने मंगलवार सुबह एसडीएम कोर्ट पर जबरदस्त प्रदर्शन किया। नागरिकों ने सिंचाई मंत्री को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट श्रीष कुमार को सौंपा।
लाइन नंबर-16 इंदिरानगर निवासी दजर्नों नागरिक आज सुबह 11 बजे एसडीएम कोर्ट पर इकट्ठा हुए और जल संस्थान और स्थानीय प्रशासन के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। नागरिकों ने सिटी मजिस्ट्रेट से पूछा कि उन्हें संस्थान कब तक गंदा पानी पिलाते रहेगा।

ज्ञापन में कहा गया है कि शहर के आजाद नगर, नई बस्ती, भीमनगर के लोग दूषित पेयजल पीने के लिए मजबूर हैं। लाइन नंबर-16 कब्रिस्तान गेट के आसपास के घरों में पानी नहीं आ रहा था। गत दिवस जल संस्थान द्वारा जब जल संस्थान द्वारा लाइन चेक कराई गई तो इसमें से जानवरों की आंतें, ओजड़ी, हड्डियां, पक्षियों के पर, पंजे और प्लास्टिक की थैलियां निकले। यह आंतें इतनी बदबूदार थीं कि मौके पर सफाई के लिए  मौजूद लोग उल्टी करने पर मजबूर हो गए।

विगत 27 नवंबर को भी जब मुख्य पाइप लाइन खोली गई थी तो इसमें से मुर्गे के सिर, पंजे, मछलियों के पर और कंडोम आदि निकले। इस गंदे पानी को अधिशासी अभियंता जल संस्थान प्रेम सिंह को एक बोतल में डालकर दिखाया गया तो उनका कहना था आपके इलाके से अभी तक कोई शिकायत नहीं आई है। लेकिन जब अधिकारियों को बुलाया गया तो मौके पर कोई अधिकारी नहीं आया।

ज्ञापन में सिटी मजिस्ट्रेट से मामले की तत्काल जांच कराने की मांग की गई। प्रदर्शन करने वालों में जिला सचिव उक्रांद नफीस अहमद खान, नगर संगठन मंत्री कांग्रेस प्रेम चौधरी, पूर्व जिला उपाध्यक्ष बसपा आसिम खान, चांद मियां, नदीम विशाल, जयपाल, पूरन, शराफत अली, फईम खान, रिजवान, मुकेश मसीह, सरदार वीर सिंह, पंडित श्याम सिंह और मोहन मुख्तार समेत दजर्नों लोग शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दूषित पेयजल सप्लाई के खिलाफ प्रदर्शन