अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रामलला के चढ़ावे में आए करोड़ों रुपए

सुनने में यह आश्चर्य लगेगा लेकिन, यह सत्य है कि अयोध्या में विवादित ढांचा ध्वस्त होने के बाद रामलला  पर करोड़ों रुपए चढावे के रूप में आए हैं।

यह धनराशि 06 दिसम्बर 1992 की घटना के बाद से अब तक अर्जित की गई है। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, विवादित श्रीराम जन्म भूमि परिसर में विराजमान रामलला के पास रखे दानपात्र में दर्शनार्थियों द्वारा 06 दिसम्बर 1992 के बाद से आज तक लगभग तीन करोड़ साठ लाख रुपए चढावे के रूप में आए हैं।

विवादित श्रीराम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येन्द्र दास ने बताया कि विवादित धर्मस्थल पर प्रत्येक माह रामलला के दर्शन के दौरान रामभक्तों की ओर से लगभग एक लाख पचास हजार रुपए का चढ़ावा आता है।

उन्होंने बताया कि रामलला के पास रखे गए दानपात्र को माह में दो बार राजकीय कोषागार और विवादित परिसर के मजिस्ट्रेट, विवादित परिसर के रिसीवर एवं फैजाबाद मंडल के आयुक्त तथा परिसर के मुख्य पुजारी सहित बारह लोगों की एक कमेटी के सामने प्रत्येक माह की 05 और 20 तारीख को खोला जाता है।

उन्होंने बताया कि रामलला में जो धनराशि चढ़ावे के तौर पर आती है, उसे रिसीवर की देख-रेख में भारतीय स्टेट बैंक में जमा करा दिया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रामलला के चढ़ावे में आए करोड़ों रुपए