अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लूटमार रोकने के लिए गहन चैकिंग होगी

शहर में धड़ाधड़ हो रही चोरी और लूट की वारदातों ने ग्रेटर नोएडा पुलिस की नींद उड़ा दी है। वारदातों की रोकथाम और अपराधियों की धरपकड़ के लिए पुलिस ने छापेमारी की कार्ययोजना तैयार की है। शहर के तमाम चौराहों पर वाहन चैकिंग भी शुरू कर दी गई है।

विदित हो कि पिछले एक सप्ताह के दौरान शहर में लूट और चोरी की एक दर्जन वारदातें हो चुकी हैं। इससे लोगों में दहशत फैल रही है। ग्रेटर नोएडा के आवासीय सेक्टर जहां बस चुके हैं वहां चार कोतवाली ग्रेटर नोएडा, कासना, सूरजपुर और दादारी का क्षेत्र पड़ता है।

वारदात होने पर अक्सर पुलिस सीमा विवाद में उलझती रहती है। यही वजह है कि बदमाशों को पकड़ा नहीं जा रहा और वे बेखौफ हो वारदातों को अंजाम देने में लगे हैं। आए दिन हो रही इन वारदातों की रोकथाम के लिए एस पी देहात एस के वर्मा ने चारों कोतवालियों की पुलिस को संयुक्त अभियान सौंपा है।

अभियान के तहत ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के गांवों में तमाम अपराधी किस्म के लोगों की धरपकड़ के लिए अभियान शुरू किया गया है। बदमाशों के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। शहर को जोड़ने वाले तमाम रास्तों पर वाहन चैकिंग भी शुरू की गई है। सूरजपुर एन्ट्री पाइंट से लेकर एलजी गोलचक्कर, जगत फार्म, परी चौक और डेल्टा स्थित मंदिर समेत करीब एक दर्जन स्थानों पर खड़ी पुलिस वाहन चैकिंग अभियान चला रही है।

एसपी ने दावा किया है कि शहर में हर सड़क पर पुलिस मौजूद देख अपराधी वारदात करने की हिम्मत नहीं जुटा पाऐंगे। गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में विशेष पुलिस चौकी बनकर तैयार हो गई है। विश्वविद्यालय में चोरी जैसे मामलों की आशंका तो अभी कम है लेकिन, हास्टलों में रह रहे सैकड़ों की तादात में छात्र-छात्राओं की सुरक्षा एक बड़ी जिम्मेदारी है।

यूनिवर्सिटी अभी सुनसान जंगल में है। परिसर में दिन रात काम करने वाले श्रमिकों के हजारों परिवार वहीं रहते हैं। तमाम अध्यापक और छात्रों ने भी हास्टलों में रहना शुरू कर दिया है। एसपी के मुताबिक यूनिवर्सिटी परिसर में पुलिस चौकी का भवन अथॉरिटी ने बनाकर दिया है। यहां शीघ्र ही पुलिसकर्मियों की तैनाती की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुस्त पुलिस अब बनेगी चुस्त