class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रदेश के छात्रों को रोजगार भी दिलाएगा प्राविवि

प्रदेश के तकनीकी कॉलेजों से पास होने वाले छात्रों को रोजगार भी दिलाएगा। इसके लिए प्राविधिक विश्वविद्यालय सेंट्रल प्लेसमेंट सेल बनाएगा। आर्थिक मंदी के में प्लेसमेंट घटने के बाद विश्वविद्यालय ने यह निर्णय लिया है। प्लेसमेंट सेल के साथ ही स्टूडेंट डाटा बैंक भी बनाया जाएगा। इसके तहत चौथे वर्ष में आते ही छात्र का पूरा ब्योरा दर्ज हो जाएगा।

प्राविधिक विश्वविद्यालय से सम्बद्ध तकनीकी कॉलेजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। पिछले सत्र में लगभग 32 हजार इंजीनियरिंग छात्र पास होकर निकले हैं। अगले साल यह संख्या लगभग 50 हजार पहुँचने का अनुमान है। एक मोटे आँकलन के अनुसार सामान्य तौर पर 50 से 60 फीसदी छात्रों को पास होते ही रोजगार मिल जाता था।

पिछले साल आर्थिक मंदी के कारण पलेसमेंट लगभग 30 फीसदी ही रह गया था। उसी के बाद सेंट्रल प्लेसमेंट सेल बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई थी। कुछ कॉलेजों ने अपने स्तर से प्लेसमेंट सेल बनाए हैं। विश्वविद्यालय उनको मदद करता है लेकिन केन्द्रीय स्तर पर ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है।

सेंट्रल प्लेसमेंट सेल लखनऊ और नोएडा दोनों जगह बनाया जाएगा। स्टूडेंट डाटा बैंक में चौथे वर्ष के छात्रों के अलावा पहले पास होकर निकल चुके छात्रों का भी ब्योरा रहेगा। यह भी दर्ज रहेगा कि कितनों का प्लेसमेंट हो चुका है और कितने रह गए हैं। प्राविधिक विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार यू. एस. तोमर बताते हैं कि प्लेसमेंट के लिए छात्रों को सूचना भी भेजी जाएगी।

नोएडा से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के छात्रों को मदद मिलेगी और पूर्वी उत्तर प्रदेश के छात्रों के लिए लखनऊ नजदीक होगा। दोनों जगह कम्पनियों को आमंत्रित किया जाएगा। सामान्य तौर पर दूर-दराज और छोटे शहरों के छात्रों को जानकारी नहीं हो पाती। सेल बन जाने के बाद उनको जानकारियाँ भी मिलती रहेंगी। उन्हें विश्वविद्यालय तो प्लेसमेंट के समय सूचना भेजेगा ही और वह खुद भी समय-समय पर जानकारी हासिल कर सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रदेश के छात्रों को रोजगार भी दिलाएगा प्राविवि