अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देरी करने से 157.70 करोड़ का खर्च बढ़ा

नेशनल हाइवे दो पर दिल्ली बदरपुर बार्डर से आगरा तक 25 फ्लाईओवरों का निर्माण करने एवं इसे विस्तार देकर सिक्स लेन करने के काम में निरंतर देरी होने से इसके बजट में 157.70 करोड़ रुपए का इजाफा करना पड़ गया। यही नहीं अब ये काम बीओटी की बजाए डिजाइन बिल्ड फाइनेंस ऑपरेट एंड ट्रांसर्फर (डीबीएफओटी) के तहत कराया जाएगा।

इस प्रोजेक्ट को अमली रूप देने को देशी-विदेशी की 15 कंपनियों ने निविदा डाल रखी हैं। इसमें से चार कंपनी टॉप पर रखी गई हैं। सूत्रों की माने तो इन्ही में से किसी एक कंपनी को यह काम सौपा जा सकता है। एनएचआईए ने एनएच दो को सिक्स लेन का करने के लिए दिसंबर 06 में योजना बनाई थी। इसके तहत फेज-5 में 6,500 किलोमीटर तक सड़क को चार लेन से सिक्स लेन का करना है।

इसके लिए तब 1,75,000 करोड़ के बजट को मंजूरी भी दे दी गई थी। योजना के तहत बार्डर से आगरा तक के 180 किलोमीटर लंबे मार्ग पर 25 फ्लाईओवर भी बनाने है। इसके लिए पहले 1566 करोड़ का बजट रखा गया था। लेकिन कंपनियों के धनराशि कम होने के चलते रुचि नहीं दिखाने पर इस प्रोजेक्ट को कहीं कुछ समय के लिए लटका दिया गया। बाद में नए सिरे से निविदा निकाली गई और बजट में 157.7 करोड़ रुपए का इजाफा कर दिया गया।

एनएचएआई जनरल मैनेजर एलपी पाढ़ी के अनुसार, इसके लिए दोबारा बिड् नहीं की जाएगी। कंपनियों का समीक्षा चार्ट बनाया जा रहा है। इस प्रोसिस में करीब महीना भर लग सकता है। उसके बाद एक कंपनी को प्रोजेक्ट सौंप दिया जाएगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:देरी का खामियाजा 157.70 करोड़ का खर्च