अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मऊ में टूटी रेल पटरी पर गुजरीं ट्रेनें व मालगाड़ियां

करीब डेढ़ दशक पुरानी रेल पटरी मंगलवार को सुबह आठ बजे भीटी ओवरब्रिज के नीचे 0 बी फाटक के पास अचानक चटख गयी। की मैन की सूचना पर आनन-फानन में टूटी रेल पटरी पर ही काशन लगाकर कई एक्सप्रेस ट्रेनों व तीन मालगाड़ियों को गुजारा गया। कड़ी मशक्कत के बाद रेलवे प्रशासन को पांच घंटे बाद टूटी लाइन पर वेल्डिंग कराकर आवागमन को सुचारु कराने में सफलता मिली।

भीटी ओवरब्रिज के नीचे  बी फाटक के पास रेल लाइन अचानक चटखी हालत में पड़ी थी। सुबह की बेला में शौच करने गए लोगों ने भी टूटी पटरी को देख गेट मैन को सूचना दी। इतने में की मैन हरदेव मंडल ने भी पटरी का मुआयना करके स्टेशन अधीक्षक, गेट मैन और पीडब्ल्यूआई को सूचना दी।

स्टेशन अधीक्षक संतोष श्रीवास्तव ने विभागीय अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया, जिस पर आनन-फानन में पीडब्ल्यूआई आरके यादव अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच गये और टूटी रेल पटरी पर ही काशन लगवा दिया।

तदुपरांत इन्दारा की ओर से लिच्छवी और इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेनों को मंद गति से बढ़ाया गया, जबकि गोदान को शाहगंज की ओर भेजा गया। वहीं दादर, कृषक एक्सप्रेस ट्रेनों को भी काशन के जरिये ही वाराणसी भेजा गया, जबकि तीन माल गाड़ियों में एक मालगाड़ी शाहगंज की ओर, एक वाराणसी और एक को भटनी की ओर किसी तरह से रवाना किया गया।

इस दौरान पीडब्ल्यूआई की टीम ने पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद करीब एक बजे टूटी लाइन पर वेल्डिंग कराकर आवागमन को सुचारु कराया। तब जाकर रेल प्रशासन ने राहत की सांस ली। उधर स्टेशन अधीक्षक संतोष श्रीवास्तव का कहना है कि, अब स्थिति सामान्य हो गयी है। ट्रेनों का संचालन सुरक्षापूर्वक हो रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मऊ में टूटी रेल पटरी पर गुजरीं ट्रेनें व मालगाड़ियां