class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस में नियुक्ति का रास्ता खुलने से युवकों में जोश

के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती के बीच सहमति के बाद उत्तराखण्ड में चार हजार पुलिसकर्मियों की नियुक्ति का रास्ता खुलने से पहाड़ी युवकों में जबर्दस्त जोश है और इसके लिए कई युवकों में अभी से तैयारी शुरू कर दी है।

निशंक ने मायावती से गत शनिवार को लखनऊ में इस बात पर चर्चा की थी कि राज्य गठन के बाद उत्तराखण्ड के लिए आवंटित चार हजार पुलिसकर्मियों को अभी तक उत्तर प्रदेश से कार्यमुक्त नहीं किया गया है, जिससे राज्य को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

निशंक ने चार हजार पुलिसकर्मियों को उत्तराखण्ड भेजने का आग्रह किया तो मायावती ने इतने ही पद उत्तराखण्ड को आवंटित करने पर अपनी सहमति दे दी, जिससे उत्तराखण्ड द्वारा चार हजार पुलिसकर्मियों की नई नियुक्ति करने का रास्ता खुल गया। निशंक और मायावती के बीच हुई इस सहमति के बाद पूरे राज्य के युवकों में एक नया जोश आ गया है और युवकों ने अपनी नियुक्ति की संभावना को देखते हुए कोचिंग सेंटरों, निजी टयूटर और अन्य संस्थानों की ओर रूख करना शुरू कर दिया है।

देहरादून के निवासी तथा स्नातक महेश सिंह ने बातचीत में बताया कि पर्वतीय राज्य में चार हजार पुलिसकर्मियों की एक साथ नियुक्ति होना यहां के युवकों के लिए बड़ी उपलब्धि है। इससे जो लोग राज्य के बाहर जाकर नौकरी करने का मन बना रहे थे वह अब यहीं रहकर पुलिस में भर्ती की कोशिश करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस में नियुक्ति का रास्ता खुलने से युवकों में जोश