अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़ी संख्या में लखनऊ पहुंचे गन्ना किसान

उत्तर प्रदेश सरकार की गन्ना नीति के खिलाफ विरोध प्रदशर्न करने के लिए हजारों की संख्या में गन्ना किसान लखनऊ पहुंचे। भारतीय किसान यूनियन(भाकियू) के प्रमुख महेंद्र सिंह टिकैत की अगुवाई में हजारों की संख्या में किसान हाथों में गन्ने लेकर रेलगाड़ियों से यहां पहुंचे। टिकैत दोपहर बाद यहां किसानों की पंचायत को संबोधित करेंगे। किसानों की मांग है कि राज्य सरकार उनसे बातचीत कर गन्ने का उचित मूल्य तय करे।

टिकैत ने लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन पर कहा, ‘‘राज्य सरकार का कोई मंत्री, वरिष्ठ अधिकारी या फिर कोई सरकारी नुमाइंदा हमें बातचीत के लिए बुलाकर हमारी समस्या सुलझाए। हम अपने अधिकारों के लिए लड़ाई जारी रखेंगे।’’

भाकियू पदाधिकारियों ने किसानों से कहा कि अगर मंगलवार को राज्य सरकार हमें बातचीत के लिए बुलाकर गन्ने का उचित मूल्य देने का लिखित वादा नहीं करती है तो किसान अपने गन्ने को उत्तराखंड और हरियाणा की चीनी मिलों में ले जाएंगे।

भाकियू के महासचिव राकेश टिकैत ने कहा, ‘‘उत्तराखंड के चीनी मिलें हमारे गन्ने का 215 से 220 रुपए देने को तैयार हैं।’’ गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने गन्ने का राज्य परामर्शी मूल्य(एसएपी) 165 से 170 रुपए प्रति क्विंटल तय किया है जबकि किसान अब इसे 220 रुपए न्यूनतम करने की मांग कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बड़ी संख्या में लखनऊ पहुंचे गन्ना किसान