DA Image
19 जनवरी, 2020|1:44|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई मेयर चुनाव में शिवसेना-कांग्रेस में कांटे की टक्कर

मुंबई के मेयर पद के लिए मंगलवार में हो रहे चुनाव में मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) में वर्षों से सत्तारूढ़ शिवसेना एवं भारतीय जनता पार्टी के भगवा मोर्चे तथा राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन के बीच कांटे की टक्कर होने की संभावना है।

बीएमसी का सालाना बजट देश के कई राज्यों से अधिक करीब 12 हजार करोड़ रूपये है। इस पद के लिए शिवसेना ने श्रद्धा जाधव को तथा कांग्रेस ने प्रेसिला कदम को अपना प्रत्याशी बनाया है। यह पद महिलाओं के लिए आरक्षित है।

इस पद पर अभी शिवसेना की ही शुभा राऊल पदासीन हैं। बीएमसी के आम चुनाव पांच वर्ष पर होते हैं, लेकिन मेयर का कार्यकाल ढ़ाई वर्ष का ही होता है।

बीएमसी के कुल 227 सदस्यों में शिवसेना, भाजपा और उनके मित्र दलों के 115 पार्षद हैं। कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के कुल 110 सदस्य हैं। सदन में दो सीट रिक्त हैं।

विपक्षी पार्षदों में सात समाजवादी पार्टी के हैं जिसने इस चुनाव में अपने रूख की घोषणा नहीं की है। खबर है कि कांग्रेस ने शिवसेना का समर्थन करने वाले अखिल भारतीय सेना के दो पार्षदों को अपने पाले में कर लिया है, जिनमें पार्टी के जेल में बंद अध्यक्ष अरुण गवली की पुत्री गीता गवली भी शामिल है।

इस बीच शिवसेना की एक महिला पार्षद छाया भांजी के पुत्र ने उनके रविवार शाम से लापता होने की पुलिस के गुमशुदा विभाग में रिपोर्ट दर्ज कराई है। उपनगरीय वसरेवा पुलिस ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि उनके पुत्र को शिवसेना पार्षद के अपहरण की आशंका नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मुंबई मेयर चुनाव में शिवसेना-कांग्रेस में कांटे की टक्कर