DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धौलाकुआं गैंगरेप मामले में फैसला टला

बहुचर्चित धौलाकुआं गैंगरेप मामले में सोमवार को अदालत का फैसला नहीं आया। द्वारका स्थित एडिशनल सेशन जज नीरज कुमार गुप्ता की अदालत ने मामले में गिरफ्तार इकलौते आरोपी अजित कटियार पर फैसले की तारीख को 7 दिसम्बर तक के लिए टाल दिया है। इस मामले में कटियार पर दिल्ली विश्वविद्यालय की एक छात्र को देर रात अगवा कर चलती कार में सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप है।

चार साल पुराने मामले में आज फैसला सुनने के लिए बड़ी तादात में मीडियाकर्मी और वकील अदालत कक्ष में मौजूद थे। दोपहर 2 बजे के बाद अदालत ने फैसला अगली तारीख तक के लिए टालने की घोषणा की। पुलिस के मुताबिक 8 मई 2005 की रात सवा दो बजे मिजोरम की मूल निवासी एवं डीयू की 20 वर्षीय छात्र रीना (बदला हुआ नाम) ढाबे से खाना लेकर सहेली के साथ लौट रही थी। तभी धौलाकुआं रोड पर कार सवार चार बदमाशों ने रीना को चलती कार में खींचकर पीड़िता के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था। रीना की दोस्त अपने आप को किसी तरह बचाकर वहां से भाग निकली थी।

अभियुक्त कई घंटे तक पीड़िता को कार में लेकर दिल्ली की विभिन्न सड़कों पर घूमते रहे और सुबह के समय उसे दक्षिण दिल्ली के एक गुरुद्वारे के पास फेंककर फरार हो  गए थे। पीड़िता ने बयानों में चार युवकों द्वारा दुष्कर्म किए जाने की बात कही थी।

हालांकि पुलिस छानबीन के दौरान महज एक आरोपी अजित कटियार को ही गिरफ्तार कर सकी। वहीं, मामले के तीन आरोपी डन्डा, जट और टप्पे की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। अदालत ने मामले की सुनवाई के दौरान तीनों को भगौड़ा करार दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धौलाकुआं गैंगरेप मामले में फैसला टला