DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाहनों की सख्ती से होगी जांच

परिवहन मंत्री अरविंदर सिंह लवली ने कहा है कि ब्लू लाइन बस समेत सभी व्यवसायिक वाहनों की जांच के लिए अभियान तेज किया जाएगा। वाहनों के सीएनजी प्रमाण पत्र, रजिस्ट्रेशन नंबर, ड्राइविंग लाइसेंस व प्रदूषण प्रमाण पत्र की जांच की जाएगी। अभियान शुरू करने के लिए परिवहन विभाग को निर्देश दे दिया गया है। उनकी ओर से लगभग एक दजर्न टीमें तैयार की जाएंगी।

गौरतलब है कि चार दिन पहले डीटीसी बस में सीएनजी लीकेज की वजह से लगी आग से सरकार सचेत हो गई है। दिल्ली सरकार ने न केवल डीटसी बसों व अन्य व्यवसायिक वाहनों के सीएनजी कीट व प्रमाण पत्र की जांच अभियान को तेज करने की योजना तैयार की है।

इस संदर्भ में सोमवार को परिवहन मंत्री ने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई थी। बैठक के बाद लवली ने कहा कि डीजल से चलित हल्के व्यवसायिक वाहनों को 31 मार्च 2010 तक सीएनजी में परिवर्तन करने की मोहलत दी गई है, लेकिन सभी वाहनों को इस वर्ष 31 दिसंबर तक सीएनजी में परिवर्तन के लिए पंजीकरण करा लेना अनिवार्य है। इसके बाद उन्हें किसी प्रकार की मोहलत नहीं दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि  ब्लू लाइन बस समेत अन्य सीएनजी के व्यावसायिक वाहनों के जांच अभियान को तेज किया जा रहा है।

लवली ने कहा कि डीटीसी की सभी बसें सीएनजी लीकेज प्रूफ होंगी। इसके लिए सभी बसों की नियमित जांच की जाएगी और लिकेज प्रूफ का स्टीकर लगने के बाद ही सड़कों पर उतारा जाएगा। लीकेज प्रूफ के स्टीकर देने की जिम्मेदारी डिपो मैनेजर की होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वाहनों की सख्ती से होगी जांच