DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

होली है भई होली है..होली है.. भई.. होली है.. रंग-बिरंगी होली है..। उ तो हइये है। इ कौनो बोलनेवाली बात है का। अर भाई आप नय बोलियेगा तो नय जानेंगे कि होली है। बड़ी विचित्र हालत है। होली में काहे ले लोग चिल्ला-चिल्ला कर कहता है- होली है। इ आज तक नय समझ में आया। दीवाली और दशहरा में लोग काहे नय बोलता है- दीवाली है भई दीवाली है..। दशहरा है भई दशहरा है..। खैर चलिये.. होली है तो है..। अब इसमें का-का होता है, इ जानबे करते हैं। खूब खाना, पीना, नाचना, गाना और का? लेकिन असली चीजवा तो बोलिये नय रहे हैं। इस बार कुछ स्पेशल टाइप की होली है। काहे कि होली के संग-संग इलेक्शन भी चल रहा है। कैंडिडेटवन के लिए तो समझिये रंगे-रंग है। जेने जा रहा है लोग होली है भई, होली है..। होली के दिन तो सबसे लोग मिलता-ाुलता है। एगो गाना है ना.. होली के दिन दिल खिल जाते हैं, रंगों में रंग मिल जाते हैं। उसी तरह वोट के समय भी दिल से दिल मिल जाता है। एगो रंग के ड्राम में सब कैंडिडेटवन मूड़ी गोंतकर रंगीन होने के लिए लपलपइले है। अब जादे नय बोलेंगे..। कहेंगे होली है भई होली है । आप भी बोलिये.।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग