DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जार्ज की नालंदा सीट पर कई पेंच

एनडीए के राष्ट्रीय संयोजक जार्ज फर्नाडीस नालंदा लोकसभा सीट पर बने रहना तो चाहते हैं, लेकिन उसमें कई पेंच हैं। बीते जनवरी में राजगीर में आयोजित जदयू के शिविर में श्री फर्नाडीस ने नालंदा से चुनाव लड़ने की खुद ही घोषणा की थी। हालांकि पार्टी सूत्रों की मानें तो जार्ज ने मुजफ्फरपुर से भी लड़ने की इच्छा प्रकट की है।ड्ढr ड्ढr अलबत्ता पार्टी की मानें तो कहीं से किसी की उम्मीदवारी पक्की नहीं। माना तो यह जा रहा है कि जार्ज के नालंदा और मुजफ्फरपुर दोनों ही जगहों से चुनाव लड़ने में कई पेंच हैं। जार्ज का स्वास्थ्य साथ नहीं दे रहा। यहां तक कि भूलने की बीमारी भी हावी हो गई है। इन्हीं कारणों से जार्ज पार्टी कार्यक्रमों में अधिक शिरकत भी नहीं कर पा रहे। हालांकि नालंदा से उनका मोह छूट नहीं रहा। इसीलिए तो काफी बीमार होने के बाद भी वे शिविर में भाग लेने राजगीर पहुंच गए। जार्ज ने 28 जनवरी को राजगीर में पत्रकारों के समक्ष खुद स्वीकार किया कि वे आगामी लोकसभा का चुनाव अवश्य लड़ेंगे और नालंदा से ही वे लोकसभा में जाना पसंद करंगे।ड्ढr ड्ढr उनका इतना कहने के बाद सूबे का सियासी तापमान अचानक परवान चढ़ गया, क्योंकि अबतक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रधान सचिव आर.सी.पी. सिन्हा और डीजीपी स्तर के अधिकारी आशीष रंजन सिन्हा का नाम नालंदा से पार्टी प्रत्याशी के रूप में सबसे आगे दौड़ रहा था। जार्ज की इस घोषणा के बाद पार्टी ने तत्काल कोई प्रतिक्रिया तो नहीं दी, अलबत्ता इतना अवश्य कह दिया कि अभी कोई उम्मीदवारी तय नहीं है। जानकारों का मानना है कि जार्ज नालंदा या मुजफ्फरपुर कहीं से चुनाव लड़ना चाहेंगे तो पार्टी उनका टिकट काट नहीं सकती। उधर राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव में जिस तरह जार्ज को शरद यादव से पराजित होना पड़ा उससे कई लोगों को इस तर्क में दम नजर नहीं आता।ड्ढr ड्ढr उधर मुजफ्फरपुर से जार्ज की उम्मीदवारी को लेकर भी तरह-तरह की चर्चाएं हैं। बताया जाता है कि जार्ज ने यहां से चुनाव लड़ने की इच्छा से पार्टी को अवगत भी करा दिया है। हालांकि यहां उनके लिए परशानी अधिक है। गत चुनाव में मुजफ्फरपुर के मौजूदा निर्दलीय विधायक विजेन्द्र चौधरी ने खुलकर उनका साथ दिया था। इस बार वे खुद लोकसभा के लिए मुजफ्फरपुर के दावेदार हैं। ऐसे में जार्ज के लिए यह सीट अपेक्षाकृत अधिक मुश्किल भरा है। हालांकि इतना जरूर है कि पार्टी के साथ-साथ नालंदा या मुजफ्फरपुर दोनों ही जगहों से जार्ज के चाहने वाले अब भी बहुत हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जार्ज की नालंदा सीट पर कई पेंच