DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपा खो बैठे अमर सिंह, अहलूवालिया के साथ धक्का-मुक्की

आपा खो बैठे अमर सिंह, अहलूवालिया के साथ धक्का-मुक्की

बाबरी मस्जिद विध्वंस संबंधी लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट राज्य सभा में पेश किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) के सदस्यो के बीच तीखी नोंक-झोंक सपा नेता अमर सिंह और भाजपा के एसएस अहलुवालिया के बीच धक्का-मुक्की में बदल गई।

बाद में अमर सिंह ने मीडिया में बोला कि उन्हें अपने आचरण से दुख पहुंचा है। उन्होंने कहा कि जब सदन दोबारा बैठेगा तो वह अहलुवालिया से सार्वजनिक माफी मांगने तो तैयार हैं।

दोपहर बारह बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई भाजपा नेता एसएस आहलूवालिया वेंकैया नायडू और अन्य सदस्यों ने लिब्रहान रिपोर्ट को लेकर बोलना शुरू कर दिया। वे उपसभापति रहमान खान से मांग कर रहे थे कि प्रश्नकाल निलंबित करके उन्हें लिब्रहान रिपोर्ट मुद्दे पर बोलने दिया जाए।

रहमान के बार-बार के आग्रह और विपक्षी सदस्यों के लगातार जारी शोरगुल के कुछ देर बाद गृह मंत्री पी चिदम्बरम ने लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट और कार्रवाई रिपोर्ट सदन के पटल पर रखी। उनके ऐसा करते ही भाजपा के सदस्यजन बजरंग बली और जय श्री राम के नारे लगाए। इसके तुरंत बाद अमर सिंह अपने स्थान पर खडे़ होकर `या अली' के नारे लगाने लगे।

नारेबाजी के बीच अमर सिंह अपने स्थान से उठे और भाजपा के अहलुवालिया के पास पहुंच गए दोनों के बीच तीखी नोंकझोंक शुरू हो गई। इस बीच दोनों पार्टियों के सदस्य वहां जमा हो गए और उनके बीच हाथापाई की नौबत आ गई।

इस धक्कामुक्की के बीच कुछ सदस्यों ने बीच बचाव किया तथा अमर सिंह को उनकी सीट तक ले गए, हालांकि नारेबाजी चलती रही। इस बीच रहमान खान ने स्थिति बिगड़ती देख सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित होने की घोषणा कर दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आपा खो बैठे अमर सिंह, अहलूवालिया के साथ धक्का-मुक्की