DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैगिंगने ली एक मेडिकल छात्र की जान

सुप्रीम कोर्ट के द्वारा रैगिंग पर बार-बार कड़े निर्देश देने के बावजूद रैगिंग की घटना बदस्तूर जारी है। ताजा घटना में हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में स्थित राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज में गुडगांवकेछात्र को सीनियरों ने पीट-पीटकर मार डाला। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुडगांव का रहने वाला 1वर्षीय छात्र अमन काचरु की नशे में धुत सीनियरों ने पीट-पीटकर मार डाला है। इस घटना के बाद राज्य सरकार ने मामले की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं। कॉलेज के प्रिंसीपल ने इस घटना के बाद इस्तीफा दे दिया है। मरने से पहले अमन ने एक चिट्ठी लिखी थी, जिसमें उसने चार सीनियरों के नाम लिखे हैं। अमन ने यह भी लिखा है कि किस प्रकार सीनियर उसका लगातार शोषण कर रहे थे। अमन के परिवारवालों ने यह आरोप लगाया है कि अमन का लगातार शोषण हो रहा था। उसको हर समय सीनियर पीटते रहते थे और अपना सारा काम अमन से ही करवाते थे। परिवारवालों ने कहा है कि दो दिन पहले वह कान में चोट के कारण वह अस्पताल भी गया था। कॉलेज प्रशासन रैगिंग से इनकार किया है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि अगर कॉलेज रैगिंग रोकने में नाकामयाब रहता है तो उसकी आर्थिक मदद बंद कर दी जानी चाहिए। आदेश में यह भी कहा गया है कि अगर विश्वविद्यालय प्रशासन किसी छात्र को दोषी पाता है तो उसे सस्पेंड कर सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रैगिंगने ली एक मेडिकल छात्र की जान