DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाघिन के चौथे शावक की भी मौत

लखनऊ प्राणी उद्यान में रायल बंगाल बाघिन इप्शिता ने आठ और नौ नवम्बर के बीच जिन चार शावकों को जन्म दिया था उन सबकी मौत हो गई। इससे चिडि़याघर में टाइगर की नई पीढ़ी की शुरुआत की जगी आखरी उम्मीद भी आज खत्म हो गई।

प्राणी उद्यान के सूत्रों ने बताया कि इप्शिता ने जिन चार शावकों को जन्म दिया था उनमें नौ नवम्बर को जन्मे एक शावक की दस नवम्बर को, जबकि दूसरे की 15 नवम्बर को मौत हुई थी। तीसरे शावक ने 18 नवम्बर को दम तोड़ दिया था और कल चौथा शावक भी जीवित नहीं बच सका।

लखनऊ प्राणी उद्यान में 14 वर्ष के बाद किसी बाघिन ने शावको को जन्म दिया है। इससे पूर्व वर्ष 1995 में एक रायल बंगाल बाघिन ने दीपाली, शेफाली और रूपाली नाम की तीन मादा शावकों को जन्म दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाघिन के चौथे शावक की भी मौत