DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जादूगर भइया, तुम भी भए कॉरपोरेट

जादूगर भइया, तुम भी भए कॉरपोरेट

कुछ साल पहले जादूगरों से पूछा जाता था कि आप जादूगरी के अलावा और क्या करते हैं? लेकिन आज ऐसा कहां है? नौजवान पीढ़ी जादू की छड़ी थामे है और फुलटाइम पेशे के तौर पर अपना रही है। और फिर, यंग जेनरेशन भी तो जादू का दीवाना है। श्रेय जाता है बिंदास चैनल के मैजिक शो ‘थर्ड डिग्री’ के जबरदस्त यंग एंकर-जादूगर योगेश सरदार को। चलते-चलते, घूमते-फिरते और यहां-वहां वह हर जगह युवाओं की टोली को घेर कर एक से एक जादू दिखाने लगता है और जाते-जाते हर किसी को अपना फैन बना लेता है। बाजारों, चौराहों और मेलों के मदारी के करतब अब किशोर-युवा टीवी के पर्दे पर देख-देख दंग होने लगे हैं।

यार कुछ काम करना था, यही कर लिया -उपेन्द्र ठाकुर
आज तो तमाम नामी-गिरामी कंपनियां युवा खरीदारों को लुभाने के लिए जादूगरों का सहयोग लेने लगी हैं। और जादूगर भी हैं नौजवान। दिल्ली का 35 साल का जबरदस्त जादूगर उपेन्द्र ठाकुर खुद को कॉरपोरेट मैजिशियन करार देता है। वह हिन्दुस्तान लीवर, मोटोरोला, वर्लपूल जैसी बहुतेरी कंपनियों के प्रोडक्ट लांज या कहें उत्पाद पेशकशों को उतारने और प्रमोट करने में मददगार बन रहा है। उपेन्द्र ठाकुर बताते हैं, ‘मैं पहले सेल्समैन और डॉक्टर के सहयोगी के तौर पर काम कर चुका हूं। मेरी कंपनी ने 1999 में शटर गिरा दिए, तो कोई और जॉब हाथ न लगा, और जादू की छड़ी थाम ली।’ और जाहिर किया कि उसने मैजिक ट्रिक्स एक कारोबारी से सीखे, जो भागलपुर के क्लिनिक में आते-जाते थे। बताया, ‘वह बेशक बिजनेसमैन थे, लेकिन कई मशहूर जादूगरों से आगे थे। वही मेरे गुरु बने और उनकी बदौलत ही मेरा रुझान जादू की ओर घूमा।’ बताते हैं कि उपेन्द्र ठाकुर को दिल्ली के एडवेंचर आइलैंड में मैजिक पेश करने के लिए डेढ़ लाख रुपए मासिक मिलते रहे हैं। हालांकि उपेन्द्र ठाकुर को शादी के वक्त जरा दिक्कत हुई। बताते हैं, ‘शुरू-शुरू में ससुराल वालों को भी मदारी से शादी रचाने पर एतराज हुआ। लेकिन अब तो सारी दुनिया जान गई है कि मदारियों ने जिंदगी की ऊंचाई को छुआ है। यह सब ऊपर वाले का जादू है।’

हमने कारपोरेट लुक दिया -राहुल  और  सुमित
और तो और, राहुल और सुमित खरबंदा भाइयों की जादूगर जोड़ी आज कॉरपोरेट मैजिशियन है। दोनों 28 और 31 साल के नौजवान भाई देखने में जादूगर नहीं लगते। फिर भी, मैजिक इनका जुनून और पेशा है। राहुल ने एमबीए किया है और सुमित कॉमर्स ग्रेजुएट है। उनके पिता अशोक खरबंदा भी जादूगर हैं, लेकिन सुमित का मानना है कि हमने महज पिता के दस्तूर को आगे बढ़ाने के लिए जादूगरी नहीं अपनाई, बल्कि हम जानते थे कि जादू हमारी रग-रग में समाया है। और आज दोनों भाइयों की कम्पनी ‘गिफ्ट एंड मैजिक’ रिलायंस कैपिटल, एक्सिस बैंक, ब्लैकबैरी, क्लब महिन्द्रा जैसे बड़े बिजनेस घरानों के प्रोडक्ट लांच के लिए मैजिक शो कर रही है। नौजवानों के जादूगरी में फैलते शौक के चलते देश में मैजिक की इमेज बढ़ी है। आज हिन्दुस्तानी और पश्चिम जादू का फ्यूजन नए दौर के शोज में देखने को मिलता है। यार-दोस्त भी हर पल मैजिक ट्रिक्स देखना चाहते हैं।
 
कल जादू  आज विज्ञान
-कृति पारेख
आजकल मुम्बई की 24 वर्षीय जादूगरनी कृति पारेख सारी दुनिया के यंग-यूथ को अपने जादू से प्रभावित करने में लगी हैं। पांच साल की उम्र से जादू में हाथ आजमाने वाली कृति पारेख बड़े-बड़ों को भी लुभा रही हैं। कृति ने जादू का पहला पाठ किताबों और वीडियो से ग्रहण किया और फिर मशहूर विदेशी जादूगर विलियम जेमबागा से जादू की कला सीखी। आज कृति रिलायंस, टाटा, एयर इंडिया वगैरह के लिए आधे घंटे के शो के लिए 50,000 रुपए बतौर फीस वसूलती हैं। महंगा है, लेकिन दर्शक ए-क्लास शो देखकर दांतों तले अंगुली चबाने लगते हैं। आज आईटी इंजीनियर 24 साल की कृति पारेख सारी दुनिया में अपने जादुई खेल दिखाती हैं। पांच साल की उम्र में वह जादूगरी के शो देखती, तो जादूगरों के पास जाकर इसका  राज जानने की कोशिश करती। यंग जेनरेशन को सीखने में दिक्कतें आती हैं क्योंकि अगर जादू सीखने की इच्छा है, तो यूथ कहां जाएं? यह जगजाहिर शिक्षा और ज्ञान नहीं है। हाल ही में देश के नम्बर वन जादूगर पी.सी. सरकार जूनियर मैजिक की यूनिवर्सिटी चालू करने का मन बना रहे हैं। पी.सी. सरकार जूनियर का कहना है, ‘भारत जादू का देश है। बावजूद इसके हम पश्चिम की नकल करने लगे हैं। हमें तो देहात में रचे-बसे जादू को उभारना है।’ नौजवान लड़के तो लड़के, लड़कियां भी जादू सीख रही हैं। बावजूद इसके कि जादू के गुर सीखने की राह में लड़कियों को खासी मुश्किलात पेश आती हैं। फिर भी, कृति पारेख के हौसले और तमन्ना बुलन्द हैं। उसका मन करता है कि वह पृथ्वी से गायब होकर, मंगल पर उतर जाएं!

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जादूगर भइया, तुम भी भए कॉरपोरेट