DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका को उम्मीद, परमाणु करार पर ईरान रूख बदलेगा

अमेरिका को उम्मीद, परमाणु करार पर ईरान रूख बदलेगा

अमेरिका ने उम्मीद जताई है कि ईरान अब भी विश्वास बहाली परमाणु करार को स्वीकार कर सकता है। अमेरिका ने ईरान का अवज्ञाकारी रूख समाप्त करने के उद्देश्य से उपायों पर चर्चा करने के लिए पांच अन्य विश्व शक्तियों के साथ फिर से मुलाकात करने की योजना भी बनाई है।

ब्रशेल्स में संपन्न बैठक में छह देशों ने हताशा जताई थी कि ईरान ने निम्न संवर्धित परमाणु ईंधन पोत से विदेश भेजने के बारे में सकारात्मक जवाब नहीं दिया है और न ही वह नई बातचीत के लिए सहमत हुआ है।

बहरहाल, अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता रॉबर्ट वुड ने कहा कि अमेरिका और बातचीत में उसके सहयोगी रूस, चीन, ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी अब तक बातचीत बंद करने की स्थिति में नहीं पहुंचे हैं।

वाशिंगटन में वुड ने कहा कि छहों देश अगले कदमों के बारे में चर्चा करने के लिए एक और बैठक बुलाएंगे। फिलहाल इसकी तारीख तय नहीं की गई है। अतीत में अमेरिका ने ईरान के खिलाफ एक बार फिर प्रतिबंध लागू करने की संभावना जताई थी।

संयुक्त राष्ट्र के समर्थन से हुए समझौते के अनुसार, ईरान को निम्न संवर्धित यूरेनियम विदेश भेजना था। वुड के अनुसार, इस समझौते का उद्देश्य इस आशंका को दूर करना था कि ईरान अपने परमाणु जखीरे के साथ जो कुछ कर रहा है उससे ईरानी सैद्धांतिक तौर पर सहमत हैं।

जिनेवा में एक अक्टूबर को ईरान ने कहा था कि वह अपने निम्न संवर्धित यूरेनियम को फिर से संवर्धित करने के लिए रूस भेजने को तैयार है। फ्रांस इस सामग्री को तेहरान के रिसर्च रिएक्टर के लिए ईंधन में तब्दील करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिका को उम्मीद, परमाणु करार पर ईरान रूख बदलेगा