DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कराची में नहीं है मुल्ला उमर: पाकिस्तान

कराची में नहीं है मुल्ला उमर: पाकिस्तान

पाकिस्तान ने अफगानिस्तान तालिबान के प्रमुख मुल्ला उमर के कराची में मौजूद होने की खबर का शुक्रवार को खंडन किया।

इससे पहले आई खबरों में कहा गया था कि अमेरिकी ड्रोन विमानों के निशाने से बचने के लिए उमर आईएसआई की मदद से क्वेटा से कराची भाग आया था। पाकिस्तानी विदेश विभाग के प्रवक्ता अब्दुल बासित ने संवाददाताओं को बताया कि ऐसा कहना हास्यास्पद है। उन्होंने कहा कि उमर के पाकिस्तान में कई साल से मौजूद होने के कयास लगाए जाते रहे हैं।

बासित ने बताया कि हमारी जानकारी के मुताबिक अफगान तालिबान प्रमुख अफगानिस्तान में ही है। यदि उसके ठिकाने के बारे में किसी को जानकारी है तो मीडिया के जरिए अटकलबाजी पैदा करने की बजाय इस जानकारी को हमसे साझा करना कहीं बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि उमर के पाकिस्तान में होने की बात में कोई सच्चाई नहीं है।

वाशिंगटन टाइम्स ने अमेरिकी खुफिया विभाग के दो वरिष्ठ अधिकारियों और सीआईए के एक पूर्व अधिकारी के हवाले से बताया था कि रमजान के महीने के खत्म होने के बाद उमर पिछले महीने कराची गया।
 अधिकारियों ने बताया कि उमर ने वहां एक नई वरिष्ठ तालिबान नेतृत्व परिषद का गठन किया।

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि पाकिस्तान की आईएसआई ने तालिबान नेताओं को क्वेटा से निकलने में मदद की, जहां उन पर अमेरिकी ड्रोन विमानों से हमलों की आशंका थी। सीआईए के एक अधिकारी ब्रुस राइडेल ने अखबार को बताया कि हाल ही में उमर को कराची में देखा गया था। 

अखबार ने राइडेल के हवाले से है कि आईएसआई ने अमेरिकी ड्रोन विमानों के हमले से उमर को बचाने के लिए उसे संघर्ष क्षेत्र बाहर निकालने में मदद की। हाल के दिनों में अमेरिकी राजनयिकों ने पाकिस्तान पर क्वेटा शूरा के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए दबाव डाला था। पाकिस्तान ने इस तरह के किसी संगठन की मौजूदगी की बात से इंकार किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कराची में नहीं है मुल्ला उमर: पाकिस्तान