DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साथ दें, झारखंड के लिए जी-जान लगा दूंगी : सोनिया

सच्चई यह है कि राजनीतिक अस्थिरता के कारण झारखंडवासियों की उम्मीदें पूरी नहीं हो सकी हैं। अब तक पांच मुख्यमंत्री बन चुके हैं। अस्थिरता एवं भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए कांग्रेस को मजबूत करें। यदि आप सब ने कांग्रेस का साथ दिया तो झारखंड के लिए जी-जान लगा दूंगी। यह वायदा करती हूं। कांग्रेस खोखले वायदे करने वाली पार्टी नहीं है। उक्त बातें कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने शुक्रवार को धनबाद स्थित गोल्फ ग्राउंड में एक चुनावी सभा में बोलीं।

श्रीमती गांधी ने कहा कि महिलाओं को पंचायतों में 33 प्रतिशत आरक्षण को बढ़ाकर अब पचास प्रतिशत करने का निर्णय लिया है। देश में पिछले सालों में काफी प्रगति हुई है। नरेगा से मजदूरों को सौ दिन काम का कानूनी अधिकार, अल्पसंख्यकों के लिए अलग मंत्रलय किसानों की कर्ज माफी आदि । झारखंड को ठीक तरह से केंद्रीय योजनाओं का लाभ भी नहीं मिला। आदिवासी ,अल्पसंख्यकों सहित कमजोर तबके को उपर उठाने के लिए पार्टी संघर्षरत रही है। नक्सल समस्या पर उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं।

वहीं आर्थिक विकास को देश के कोने-कोने तक पहुंचाने पर भी बल दिया। सूखाग्रस्त झारखंड में उचित दर की दुकानें, मध्यान्ह भोजन, बीपीएल परिवारों को अनाज, एसएचजी के माध्यम से महिलाओं को पीडीएस दुकान आंवटित किये जाने की भी चर्चा की। कोयला मजदूरों की स्थिति से वाकिफ हूं। असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए खास कानून, बीमा, पेंशन योजना लागू की है। विस्थापन झारखंड में बड़ी समस्या है।

बिना पुनर्वास के किसी को नहीं हटाया जायेगा। आदिवासियों के विकास पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बयान की चर्चा करते हुए श्रीमती गांधी ने कहा कि कांग्रेस इन सब मुद्दों पर गंभीर है। प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बलमुचू,केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, कार्यकारी अध्यक्ष राजेंद्र सिंह,धनबाद से कांग्रेस प्रत्याशी मन्नान मल्लिक ने भी सभा को संबोधित किया। प्रभारी केके राव भी मौजूद थे। बाघमारा से प्रत्याशी ओपी लाल, झरिया प्रत्याशी सुरेश सिंह, निरसा से सुरेश चंद्र झा, बोकारो से इजराइल अंसारी, सिंदरी के जेवीएम प्रत्याशी फूलचंद मंडल का भी श्रीमती गांधी से परिचय कराया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साथ दें, झारखंड के लिए जी-जान लगा दूंगी : सोनिया