DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृषि नीति को किसानों ने कोसा

किसानों ने केंद्र सरकार की कृषि नीति की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि यूपी की तर्ज पर हरियाणा के किसान भी सड़कों पर उतरने वाले हैं। यहां के किसानों के साथ भेदभाव हो रहा है। पिछले वर्ष धान का अच्छा रेट मिला था। मगर इस बार आधा रेट ही मिल पाया है। किसान राजबीर, रोहतास, लीलू, धारे, करणसिंह, रणधीर व मांगे ने बताया कि इस बार अनाज मंडियों में किसानों को अपना धान बेचने के लिए गिड़गिड़ाना पड़ा है।

केंद्र के निर्णय से गन्ना किसानों पर असर नहीं : हुड्डाचंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि देशभर में गन्ने के लिए आधार मूल्य निर्धारित करने के केन्द्र सरकार के निर्णय से राज्य के गन्ना उत्पादक प्रभावित नहीं होंगे।

 राज्य सरकार प्रदेश के किसानों के लिए गन्ने का अब तक का सर्वाधिक मूल्य पहले ही घोषित कर चुकी है। हुड्डा ने शुक्रवार को यहां कहा कि राज्य में किसानों को वर्ष 2009-10 के लिए गन्ने का अधिकतम मूल्य 185 रुपए प्रति क्विंटल पहले ही दिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त सहकारी चीनी मिलों को गन्ने की आपूर्ति करने पर 25 रुपए प्रति क्विंटल का बोनस भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि आगामी वर्ष 2010-11 के लिए राज्य सरकार ने गन्ने का मूल्य 210 रुपए प्रति क्विंटल पहले ही घोषित कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कृषि नीति को किसानों ने कोसा