DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

18 रुपया प्रति यूनिट लेनी होगी बिजली

ओवर ड्रा के मामले में केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग के नए प्रस्ताव से उत्तराखंड के होश उड़ गए हैं। प्रस्ताव के मुताबिक फ्रिक्वेंसी कम होने पर ग्रिड से ली गई बिजली 18 रुपया प्रति यूनिट की दर से खरीदनी पड़ सकती है। ओवर ड्रा के भरोसे चल रही प्रदेश की बिजली व्यवस्था को इससे बड़ा झटका लगेगा।

उत्तराखंड पिछले कई महीने से लगातार 40 से 50 लाख यूनिट बिजली प्रतिदिन ओवर ड्रा कर रहा है। प्रदेश का अपना विद्युत उत्पादन काफी कम होने की वजह से ओवर ड्रा करना मजबूरी हो गया है। लेकिन अब यह मजबूरी काफी महंगी साबित होने जा रही है। ग्रिड में बढ़ रहे लोड को देखते हुए केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग ने ओवर ड्रा को लेकर नया प्रस्ताव सामने रखा है।

इसमें ओवर ड्रा के रेटों में काफी बढ़ोत्तरी की गई है। अभी तक 49.2 हट्र्ज की ग्रिड फ्रिक्वेंसी पर 7.35 रुपया प्रति यूनिट देना पड़ता था, जिसे बढ़ाकर 9.07 रुपया किया जा रहा है। इससे कम की फ्रिक्वेंसी पर बिजली लेते ही बिजली की दरें बढ़कर 18 रुपया प्रति यूनिट हो जाएंगी।पीक आवर के दौरान आमतौर से 49.2 हट्र्ज की फ्रिक्वेंसी से नीचे ही ओवर ड्रा किया जाता है। उत्तराखंड को कई बार इस फ्रिक्वेंसी पर ओवर ड्रा करना पड़ता है। अगले तीन महीने में उत्तराखंड को बिजली की और अधिक कमी होगी। उत्तराखंड पावर कारपोरेशन के प्रबंध निदेशक जगमोहन लाल मानते हैं कि इससे उत्तराखंड काफी दिक्कत होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:18 रुपया प्रति यूनिट लेनी होगी बिजली