DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भैया के सफर की सारथी बनीं बहना

प्रियंका गांधी शुक्रवार को कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी की सारथी की भूमिका में नजर आईं। अमेठी यात्रा और पूर्व कार्यक्रम में राहुल के थकने के बाद फुरसतगंज हवाई अड्डे से गौरीगंज तक प्रियंका ही कार चला कर लें गईं। शुक्रवार को राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र के एक दिन के दौरे पर पहुंचे। उनके साथ हरी साड़ी में बहन प्रियंका भी थीं।

राहुल के पिछले सितंबर में बहराइच दौरे में सुरक्षा को लेकर काफी सवाल उठाया गया था। सुरक्षा को लेकर ही पत्रकारों को भी राहुल से दूर रखा गया था। प्रियंका के कार चलाने के सवाल पर राहुल ने कहा कि मैं पूर्व कार्यक्रम व सफर के कारण थक गया था। अब वापसी में कार मैं ही चलाऊंगा प्रियंका नहीं।

समाज में खुशहाली लाना मकसद राहुल गांधी ने कहा है कि उनका मकसद समाज में खुशहाली लाना है। इसके लिए उनकी पूरी कोशिश होगी कि विकास का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे। अमेठी दौरे पर पहुंचे राहुल फुरसतगंज हवाई अड्डे पर उतरने के बाद सीधे गौरीगंज विकास खंड के अरगांव गांव पहुंचे। राहुल ने कहा कि जैसे एक महिला घर एवं परिवार की दिशा तय करती है, उसी तरह से हर किसी को समाज एवं देश के लिए कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने गांवों की उन्नति के लिए अनेक कदम उठाए हैं।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) का परिणाम सामने आने लगा है। प्रियदर्शिनी योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि योजना के तहत ग्रामीण, युवा और महिलाओं को गांव में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे। प्रियंका ने राहुल के प्रयासों की तारीफ करते हुए कहा कि गांव में हम लोगों द्वारा शुरू की गई योजनाओं का लाभ आप तक पूरी तरह तभी पहुंच पाएगा जब आप पूरा सहयोग देंगे। तभी हमारे पापा का भारत के गांवों को खुशहाल बनाने का सपना पूरा हो सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भैया के सफर की सारथी बनीं बहना