DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलिया में प्रधान व सचिव पर गबन का मुकदमा

जिलाधिकारी सेंथिल पांडियन सी के निर्देश पर रसड़ा ब्लाक के डेहरी गांव की प्रधान श्रीमती चिंता देवी व सचिव राम अवध राम के खिलाफ डीपीआरओ ने 11 लाख 50 हजार 760 रुपये के गबन का मुकदमा दर्ज कराया है। डीएम ने मामले की जांच संयुक्त टीम से करायी थी। सचिव ने बंदरबांट कर ली है। ग्रामीणों ने डीएम को यह भी बताया था कि गांव में राज्य वित्त व बारहवें वित्त आयोग के धन से कराये गये कार्यो में भी धांधली की गयी है।

डीएम ने मामले की जांच के लिए संयुक्त टीम का गठन कर जांच रिपोर्ट मांगी। टीम में डीपीआरओ के अलावा खंड विकास अधिकारी रसड़ा, जिला परियोजना समन्वयक (टीएसी) व एडीपीआरओ शामिल थे। संयुक्त टीम ने डीएम को भेजी रिपोर्ट में दर्शाया है कि वर्ष 05-09 के दौरान डेहरी गांव में 486 शौचालयों के निर्माण के लिए 16 लाख 22 हजार 760 रुपये के अलावा राज्य वित्त व बारहवें वित्त आयोग के 17 लाख 87 हजार रुपये भेजे गये।

प्रधान व सचिव ने शौचालय के सभी धन आहरित किये लेकिन मात्र 112 शौचालयों का निर्माण कराने के बाद शेष 374 शौचालयों के 11 लाख 50 हजार 760 रुपये का दुरुपयोग करते हुए गबन कर लिया। जांच अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया है कि राज्य व बारहवें वित्त आयोग के धन से कराये गये कार्य भी संतोषप्रद नहीं हैं।

जांच अधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर डीएम ने प्रधान व सचिव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने का निर्देश डीपीआरओ को दिया। इस संबंध में रसड़ा कोतवाल ने समाचार लिखे जाने तक बताया कि तहरीर मिल चुकी है। एक घंटे में मुकदमा दर्ज करने की भी कार्रवाई कर ली जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बलिया में प्रधान व सचिव पर गबन का मुकदमा