DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनु शर्मा की पैरोल पर कोर्ट ने जताया ऐतराज

मनु शर्मा की पैरोल पर कोर्ट ने जताया ऐतराज

दिल्ली हाई कोर्ट ने जेसिका लाल हत्याकांड के अपराधी मनु शर्मा को पैरोल पर रिहा किए जाने के तौर-तरीके पर शुक्रवार को कड़ा ऐतराज जताया।

कनॉट प्लेस गोलीकांड के अपराधी सुमीर सिंह की याचिका की सुनवाई के दौरान न्यायमूर्ति कैलाश गम्भीर ने कहा कि सरकार ने मनु शर्मा की पैरोल याचिका पर 20 दिनों के भीतर फैसला किया, जबकि इसमें आमतौर पर तीन से छह महीने लग जाते हैं।

याचिकाकर्ता सुमीर इस आधार पर पिछले तीन महीने से पैरोल पर रिहा किए जाने की मांग कर रहा है कि उसके परिवार के सदस्य निरक्षर हैं और कनाट प्लेस गोलीबारी मामले में दोषी ठहराए जाने के फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में उसे खुद से अपील करनी होगी।

न्यायमूर्ति गम्भीर ने कहा कि पैरोल आवेदनों की सूची से यह साफ जाहिर होता है कि सरकार इन आवेदनों को मामूली प्राथमिकता प्रदान करती है। इसमें कोई संदेह नहीं कि कुछ मामलों में अपराधियों की ऊंची पहुंच और रसूख के कारण सरकार उन अपराधियों के साथ खास प्रकार से पेश आती है।

मनु शर्मा को मां की बीमारी के आधार पर तिहाड जेल से 22 सितम्बर को दो महीने के लिए पैरोल पर रिहा किया गया था लेकिन उसे राजधानी के एक नाइटक्लब में देखा गया था। इस वजह से विवाद खड़ा हो गया था और अंततः उसे 10 नवम्बर को ही स्वतः जेल लौट जाना पड़ा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मनु शर्मा की पैरोल पर कोर्ट ने जताया ऐतराज