DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादियों ने ट्रेन उड़ाई, पांच यात्रियों की मौत

माओवादियों ने ट्रेन उड़ाई, पांच यात्रियों की मौत

नक्सली हिंसा के इतिहास में पहली बार माओवादियों ने एक यात्री ट्रेन को विस्फोट कर उड़ा दिया। मनोहरपुर के नजदीक मुंबई-हावड़ा रूट पर घाघरा और पोसेता स्टेशन के बीच गुरुवार की देर रात हुई इस घटना में टाटा- विलासपुर ट्रेन की दो बोगियां पूरी तरह ध्वस्त हो गईं, जबकि आठ बोगियां पटरी से उतर गईं। इस घटना में पांच यात्रियों की मौत हो गई। एक सौ से ज्यादा यात्री घायल हुए हैं। मौतों की आधिकारिक पुष्टि रेलवे ने नहीं की है।

यह घटना रात करीब नौ बजकर दस मिनट की है। माओवादियों ने पहले से घाघरा रेलवे क्रांसिंग के पास रेलवे ट्रैक पर विस्फोटक लगा रखा था। पोसैता से खुली ट्रेन जैसे ही  यहां पहुंची, जोरदार धमाका हुआ। ट्रेन का इंजन तो निकल गया, लेकिन दो बोगियां पूरी तरह ध्वस्त हो गईं। उसके पीछे की बोगियां पटरी से उतर गईं। 

विस्फोट इतना जोरदार था कि दो बोगियां रेल पटरी से करीब 15 फीट दूर जा गिरी और उलट गई। वहीं अप लाइन का ट्रैक्शन तार भी टूट गया है। घटनास्थल के आसपास कंक्रीट की पटरी  दूर-दूर तक जा छिटकी थी। रात्रि 10.30 बजे तक पुलिस और रेल प्रशासन का कोई भी अधिकारी घटनास्थल पर नहीं पहुंच पाया था। घटना स्थल के आसपास घना जंगल है। घुप अंधेरा है। बेपटरी हुई बोगियों से लगातार रूदन-क्रंदन की आवाज आ रही थी।

घटना स्थल पर केवल लोगों की चित्कार ही सुनाई पड़ रही थी। दुर्घटनाग्रस्त बोगियों में फंसे लोग मदद के लिए चिल्ला रहे थे, लेकिन अंधेरा होने के कारण आसपास के गांव के लोगों को उनतक पहुंचने में कठिनाई हो रही थी।  
ट्रैक पर विस्फोट के कारण हावड़ा-मुम्बई रेल मार्ग पर ट्रेनों का आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है।

ट्रेनें जहां-तहां खड़ी हैं। शुक्रवार की सुबह तक यही स्थिति रहने की संभावना है। भाकपा माओवादी ने 20 नवंबर को झारखंड बंद का आह्वान किया है। माना जा रहा है कि यह घटना झारखंड बंद की कड़ी है।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माओवादियों ने ट्रेन उड़ाई, पांच यात्रियों की मौत