DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूनीसेफ ने यूपी पुलिस को बच्चों के प्रति संवेदनशील पाया

यूनीसेफ ने बच्चों के मददगार के लिए यूपी पुलिस की भूमिका की सराहना की है। एडीजी एके जैन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि बालक बालिका व किशोरों के प्रति संवेदनशीलता अपनाई जाए। उनका किसी तरह का शोषण संज्ञेय अपराध है। उनकी गिरफ्तारी की सूचना हर हाल में उनके माता पिता व संरक्षक को दी जाए।

उन्हें हथकड़ी न पहनाई जाए न ही उन्हें लॉक अप में बंद किया जाए। उनकी गरिमा के विपरीत कोई सूचना मीडिया को न दी जाए। श्री जैन ने कहा कि यूपी पुलिस ने 2008 से सितम्बर 2009 के बीच बाल मित्र के रूप में कई सराहनीय काम किए। इसमें करीब एक हजार बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया। करीब चार हजार खोए बच्चों को घर पहुँचाया गया। 200 लावारिस बच्चों को बाल सुधार गृह भेजा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूनीसेफ ने यूपी पुलिस को बच्चों के प्रति संवेदनशील पाया