DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार्बन

कार्बन ब्रह्मांड में चौथा सबसे अधिक पाया जाने वाला पदार्थ है। यह कई रूपों में मिलता है। पृथ्वी पर यह जीवित प्राणियों में किसी न किसी रूप में पाया जाता है। पृथ्वी के स्थायित्व और स्वास्थ्य के लिए भी यह ‘कार्बन साइकिल’ के जरिए योगदान देता है। यह साइकिल बेहद जटिल है और पृथ्वी के अनेक जीवों के बीच संबंध दर्शाता है। आवर्तसारिणी में कार्बन का अणु क्रमांक छह है। इसे अंग्रेजी शब्द ‘सी’ से इंगित किया जाता है।

कार्बन के मॉलीक्यूल्स अन्य अनेक तत्वों के साथ आसानी से क्रिया करते हैं, जिससे हजारों रसायनों का निर्माण हुआ है। कार्बन से ही हीरा बनता है जो दुनिया के सबसे ठोस तत्वों में से एक है और इसी से ग्रेफाइट का भी निर्माण होता है, जो सबसे नाजुक तत्वों में से एक है।

अत: कार्बन अपने आप में एक बहुआयामी और अनोखा तत्व है और इसके मॉलीक्यूल्स अनेक परिस्थितियों और तत्वों के साथ अलग-अलग तरीके से काम करते हैं। इसके अतिरिक्त, कोयला, चूना पत्थर और पेट्रोलियम जैसे पदार्थो में भी जीवाश्म मिलते हैं। लाखों वर्ष पुराने पौधों और जानवरों के जीवाश्म इन तत्वों में जा मिलते हैं।

लेकिन कार्बन के जिस खतरनाक रूप से सब वाकिफ हैं, वह है कार्बन मोनोऑक्साइड। यह वाहनों से निकलने वाला धुआं है। इसके विपरीत, अपने प्राकृतिक रूप में कार्बन सामान्यत: क्रियाहीन होता है। हाइड्रोजन जैसे अन्य कुछ तत्वों से मिलने पर यह क्रियाशील होता है। इसी बहुआयामी रूप के कारण औद्योगिक क्षेत्रों और ईंधन के तौर पर कार्बन का इस्तेमाल होता है। पुरातत्वविदों द्वारा इतिहास के साक्ष्यों की प्रमाणिकता जांचने में भी कार्बन का इस्तेमाल किया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कार्बन