DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

103 बीएड कॉलेज ब्लैक लिस्टेड

बीएड 06-07 मैनेजमेंट कोटे के बीस हजार छात्रों में से मेरठ विवि ने साढ़े तीन साल बाद मात्र आठ हजार छात्रों का रिजल्ट जारी किया है। 103 कॉलेजों के 12 हजार छात्रों को अभी रिजल्ट का इंतजार करना पड़ेगा। तीन साल में परीक्षा कराने के बाद विवि ने पांच महीने तक छात्रों और कॉलेजों को परेशान करने के बाद यह रिजल्ट जारी किया है। इससे कुमाऊं के भी दजर्नों छात्रों प्रभावित हुए हैं।

लंबी लड़ाई के बाद बीएड 06-07 सत्र में मैनेजमेंट कोटे में प्रवेश पाने वाले बीस हजार छात्रों में से आठ हजार का भाग्य विवि ने बुधवार को तय कर दिया। 181 कॉलेजों के बीस हजार छात्रों में से विवि ने मात्र 78 कॉलेजों का ही रिजल्ट जारी किया है।

103 कॉलेजों को विवि ने ब्लैक लिस्टेड करते हुए जांच के दायरे में डाल दिया है। इन कॉलेजों को अपने सभी डॉक्यूमेंट ‘जांच’ के लिए प्रस्तुत करने होंगे। विवि द्वारा की गई इस कार्रवाई से हजारों छात्रों व कॉलेजों को झटका लगा है। सवाल यह है कि फरवरी 2009 में सुप्रीमकोर्ट के परीक्षा कराने के ऑर्डर के बाद विवि ने कॉलेजों की जांच क्यों नहीं की? विवि ने ऑर्डर के तीन महीने बाद एग्जाम कराए।

इसके बाद छह महीने रिजल्ट रोके  रखा। इस तरह विवि को ऑर्डर के बाद आठ महीने का समय मिला, लेकिन एक कॉलेज भी की जांच नहीं हुई। रिजल्ट का नंबर आते ही विवि जांच का पिटारा लेकर बैठ गया। लगातार हंगामें के बावजूद विवि ने महीनों बाद मात्र आठ हजार छात्रों का रिजल्ट ही दिया है।

साफ है कहीं न कहीं विवि की मंशा  गलत है। दूसरी ओर, विवि ने कहा है कि छात्र कॉलेजों से मार्कशीट प्राप्त कर सकते हैं। रिजल्ट विवि की वेबसाइट पर मौजूद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:103 बीएड कॉलेज ब्लैक लिस्टेड