DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल में नहीं हो रही पढ़ाई

जीजीआईसी शिक्षक-अभिभावक संघ की बैठक में शिक्षण समेत अन्य व्यवस्थाओं को लेकर कई बार शिक्षक व अभिभावक आमने-सामने नजर आये। अभिभावकों ने स्टाफ की कमी के चलते पढ़ाई पर पड़ रहे असर को लेकर चिंता जाहिर की। इस बारे डीएम कार्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन का फैसला लिया गया।

प्रधानाचार्या निर्मला वर्मा ने समस्याएं हल करने के लिए अभिभावकों से सहयोग की अपील की। अभिभावकों ने कहा कि स्टाफ की कमी के चलते विद्यालय की पढ़ाई व्यवस्था पर खासा असर पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों की कमी दूर किए जाने और अन्य समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर डीएम कार्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया जाएगा।

बैठक की अध्यक्षता हरगोविंद बोरा ने की। पूर्व ब्लाक प्रमुख मंजू तड़ागी ने इंटरमीडिएट रसायन विज्ञान में एक माह में केवल तीन अध्याय पढ़ाए जाने पर नाराजगी जताई। शिक्षिकाओं ने आपत्ति जताते हुए अध्यापन में कोई कमी न होने की बात कही। अभिभावकों ने जिले स्तर कर किसी भी कार्यक्रम में विद्यालय की छात्रओं को भेजे जाने पर नाराजगी जताई।

उन्होंने कहा कि इससे छात्रओं की पढ़ाई प्रभावित होती है। वहीं शिक्षिकाओं ने बालिकाओं के देर से स्कूल आने तथा मोबाइल लाने की बात उठाई। अभिभावकों ने ऐसी छात्रओं के बारे में सूचित करने को कहा। बैठक में अभिभावकों ने मोबाइल लाने वाली छात्रओं को स्कूल से निकाले जाने की बात कही। बैठक में पेयजल व फर्नीचर व कक्षाओं में छात्र संख्या अधिक होने की समस्याएं उठाई गयी।

इस मौके पर नारायण दत्त चौबे, जीवन सिंह, राम सिंह, एचआर टम्टा, राम सिंह, जगन्नाथ जोशी, प्रभात कुमार शुक्ल, जगत चंद, जोगा राम, जगदीश चंद्र, माधवानंद, गोविंद सिंह आदि  मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्कूल में नहीं हो रही पढ़ाई